हैंडपंप के पानी से भगवान भोलेनाथ मंदिर की मूर्ति को किया जलमग्न

हैंडपंप के पानी से भगवान भोलेनाथ मंदिर की मूर्ति को किया जलमग्न

राजगढ़ (मध्य प्रदेश):- खिलचीपुर तहसील के नगर छापीहेड़ा में कुशवाहा मोहल्ला स्थित भोलेनाथ भगवान का मंदिर है जहां पर हैंड पंप से मंदिर तक महिलाओं ने कतार लगा कर जल चढ़ाकर भगवान भोलेनाथ की मूर्ति को जल में डुबाया।जब तक बारिश नहीं हो जाती हैं तब तक जलमग्न रहेंगे भगवान भोलेनाथआपको बता दें कि एक

राजगढ़ (मध्य प्रदेश):- खिलचीपुर तहसील के नगर छापीहेड़ा में कुशवाहा मोहल्ला स्थित भोलेनाथ भगवान का मंदिर है जहां पर हैंड पंप से मंदिर तक महिलाओं ने कतार लगा कर जल चढ़ाकर भगवान भोलेनाथ की मूर्ति को जल में डुबाया।
जब तक बारिश नहीं हो जाती हैं तब तक जलमग्न रहेंगे भगवान भोलेनाथ
आपको बता दें कि एक दिन पहले ही पूरे नगर वासियों ने गांव के बाहर पूजन किया और खेड़ा देवता की पूजा की नगर वासियों ने नगर में भी नगर के देवी देवताओं के स्थान पर फूल मालाएं एवं अगरबत्ती लगाई। आपको बता दें कि बरसात का मौसम शुरू हो चुका है, परंतु नगर क्षेत्र में पर्याप्त बरसाती पानी नहीं गिरने के कारण खेतों में बोई गई फसल नष्ट होने की कगार पर आ गई है। भयंकर गर्मी और उमस से लोग परेशान हो रहे हैं। पर्याप्त बारिश की कामना को लेकर रूठे इंद्र देवता को मनाने के लिए नगर वासियों के द्वारा तरह-तरह से प्रयास किए जा रहे हैं जिसके तहत खेड़ा देव की पूजन अर्चन के साथ नगर वासियों ने गुरुवार के दिन नगर की दुकानें भी बंद रखी तथा सभी नगर वासियों ने बाहर भोजन बनाकर इंद्र देवता को मनाने का प्रयास किया परंतु उसके बाद भी बारिश शुरू नहीं हुई। शुक्रवार के दिन कुशवाहा मोहल्ले के किसानों के द्वारा महिलाओं के द्वारा हैंडपंप के पानी से कुशवाहा मोहल्ला स्थित शिव मंदिर पर भगवान भोलेनाथ की मूर्ति को जल चढ़ा कर जलमग्न कर दिया। आपको बता दें कि जब तक नगर क्षेत्र में अच्छी बारिश शुरू नहीं हो जाएगी तब तक भगवान भोलेनाथ की मूर्ति को जलमग्न रखा जाएगा। जिसके लिए महिलाओं के द्वारा हेडपंप से मंदिर तक कतार लगाकर ओम नमः शिवाय के उच्चारण के साथ भगवान भोलेनाथ की मूर्ति को जलमग्न किया ज्ञातव्य हो कि बारिश का मौसम शुरू हो जाने के बाद भी चारों ओर भयंकर गर्मी के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। और बरसात नहीं होने के कारण खेतों में बोई गई फसलें नष्ट होने की कगार पर है। इस हेतु इंद्र देवता को मनाने के लिए नगर छापीहेड़ा एवं आसपास के क्षेत्र के लोगों द्वारा इंद्र देवता से अच्छी बारिश होने की कामना की जा रही हैं। आपको बता दें कि नगरवासी एवं ग्रामीण जन तरह-तरह के जतन कर पूजा पाठ अर्चना कर रहे है।

रिपोर्ट कमल चौहान

Also Read पर्यटन से होगा बुंदेलखंड का विकास , 31 किलों को पर्यटन केन्द्र बनाने के निर्देश

Related Posts

Follow Us