बच्चों ने रखा रोज़ा,मांगी दुआ

बच्चों ने रखा रोज़ा,मांगी दुआ

बिहार :- मधुबनी जिले के कलुआही प्रखंड क्षेत्र के मलमल साउथ पंचायत में छोटे छोटे बच्चो ने रखा रोज़ा। सफुरा सिद्दीका 7 वर्ष 2 रोज़ा। पिता मोहम्मद फेजान, ज़ुबिया मेहर 13 वर्ष 15 रोज़ा। पिता ज़ीशान सिद्दीक़ी। इनाम अख़्तर शरीज 10 वर्ष 2 रोज़ा। पिता शादाब अख़्तर, उमर अली, 6 वर्ष 4 रोज़ा। पिता शमशाद

बिहार :- मधुबनी जिले के कलुआही प्रखंड क्षेत्र के मलमल साउथ पंचायत में छोटे छोटे  बच्चो ने रखा रोज़ा। सफुरा सिद्दीका 7 वर्ष 2 रोज़ा। पिता मोहम्मद फेजान, ज़ुबिया मेहर 13 वर्ष 15 रोज़ा। पिता ज़ीशान सिद्दीक़ी। इनाम अख़्तर शरीज 10 वर्ष 2 रोज़ा। पिता शादाब अख़्तर, उमर अली, 6 वर्ष 4 रोज़ा। पिता शमशाद अली।

इन सभी बच्चो ने लॉक डाउन का पालन करते हुए खेल कूद छोड़ कर रोज़ा
रखा और पांचों वक़्त की नमाज और तरावी अपने-अपने घरों में अदा किया और अपनी इबादत पूरी की। एक बच्ची ज़ूबिया मेहर के पिता ज़ीशान सिद्दीक़ी ने कहा रमजान के महीने में हम लोग अपने कारोबार को कुछ कम कर लिया करते थे ताकि रोज़ा नमाज़ क़ुरआन कि तेलावत के लिए हमें पूरा वक़्त मिले। लेकिन इस बार कोरोना वायरस को लेकर लॉक डाउन किया गया है जिसकि वजह से हम अपने घरों से बाहर नहीं निकल सकते। लॉक डाउन कि वजह से बोहत सारी दिक्कत तो हो रही है  लेकिन लॉक डाउन कि वजह से एक फ़ायदा ये भी हो रहा है वातावरण बोहात शांत है और हम लोग अपने परिवार वालों के साथ बोहोत शांतिपूर्ण तरीके से अपनी इबादत पूरी कर रहे हैं।

Also Read उत्तर प्रदेश : पकड़ा गया ISIS का संदिग्ध , स्वतंत्रता दिवस पर था धमाके का प्लान

और अल्लाह तआला से यही दुआ करते हैं कि अल्लाह तआला अपनी हिफाजत में हम सभी को रखें और कोरोना वायरस जैसे बीमारियों से हम सभी भारत वासियों को महफूज रखे । और मैं इस बात से बहुत ज्यादा खुश हूं कि मेरे बच्चे ने पूरी पाबंदी से नमाज और तरावी के साथ रोजा रखा।

Related Posts

Follow Us