अवैध शराब पुलिस ने की जप्त

अवैध शराब पुलिस ने की जप्त

मधुबनी(बिहार):- कोरोना संक्रमण से लोग बेहद परेशान है और शराब तस्कर को बल्ले बल्ले हो रही है । क्योंकि अभी इस परिस्थिति में भी शराब को अपना किस्मत मान चुका है और प्रतिदिन कीमती दामों में सेल करता है । इस विषम परिस्थिति में भी शराब तस्करों की चांदी ही चांदी हो रही है ।

मधुबनी(बिहार):- कोरोना संक्रमण से लोग बेहद परेशान है और शराब तस्कर को बल्ले बल्ले हो रही है । क्योंकि अभी इस परिस्थिति में भी शराब को अपना किस्मत मान चुका है और प्रतिदिन कीमती दामों में सेल करता है । इस विषम परिस्थिति में भी शराब तस्करों की चांदी ही चांदी हो रही है । लेकिन पुलिस ने एक हजार लीटर शराब को जब्त किया है । जिससे शराब तस्करों में हड़कंप मच गई हुई है । बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी कानून लागू है , फिर भी ऐसे ऐसे तस्करों को कानून की खौफ नही है । इसीलिये खूब जोरो पर शराब की तस्करी करता है ।

मधुबनी जिले के रहिका थाना अंतर्गत सप्ता गाँव में एक मोटर गैरेज से भारी मात्रा में विदेशी शराब बरामद हुई है । बताया जाता है इस सप्ता पंचायत के पूर्व मुखिया राजा मोहन यादव इस शराब तस्करी में संलिप्त है और उसके मोटर गैरेज से एक पिकअप वैन शराब जब्त किया गया । पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी आज शराब की तस्करी खूब जोरो पर होगी । लेकिन शराब की मेला लगने से पहले ही रहिका थाना की पुलिस ने धावा बोल दिया और भारी मात्रा में जब्त की । पूर्व मुखिया काफी लंबे समय से शराब की तस्करी में लिप्त था और इतना तेज गति से व्यवसाय करता था कि उनके घर के लोगों की भी नही पता था । इतना ही नही बल्कि पुलिस को पूर्व मुखिया के बारे में कभी भी दूर दूर तक कोई सूचना नही थी ।

Also Read उत्तर प्रदेश : पकड़ा गया ISIS का संदिग्ध , स्वतंत्रता दिवस पर था धमाके का प्लान

शायद एक कहावत याद आ रही है कि सौ चोट सोनार के तो एक चोट लौहार के । यह कहावत आज पूर्व मुखिया राजा मोहन यादव के ऊपर सत्यता जागृति हो रही है । सभी विदेशी शराब हरियाणा ब्रांड है और इस लॉक डाउन में कैसे शराब पहुंचा । यह बहुत बड़ी सवाल खड़ा करती है , क्योंकि पुलिस को सूचना थी या नही ये तो रहिका थाना की पुलिस ही जाने । मगर इस भीषण परिस्थिति में भी शराब तस्कर शराब पिलाकर लोगों को मौत की मुंह मे धकेलने में लगा हुआ है ।

रिपोर्ट :- शादाब अख़्तर

Follow Us