सामने आया कोरोना का एक और खतरनाक वैरिएंट, दो खतरनाक वैरिएंट का है मिश्रण

सामने आया कोरोना का एक और खतरनाक वैरिएंट, दो खतरनाक वैरिएंट का है मिश्रण

साइप्रस यूनिवर्सिटी के जीव विज्ञान के प्राध्यापक लियोन्डियोस कोस्ट्रिक्स का इसे 'डेल्टाक्रॉन' नाम दिया गया है, क्योंकि इसके ओमिक्रॉन जैसे आनुवंशिक लक्षण हैं और डेल्टा जैसे जीनोम हैं। रिपोर्ट के अनुसार साइप्रस में डेल्टाक्रॉन के अब तक 25 मरीज पाए गए हैं। 


अभी तक पूरी दुनिया कोरोना के ओमिक्रोम वैरिएंट से परेशान है। कोरोना के ओमिक्रोम वैरिएंट ने भारत सहित पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है। लेकिन इससे भी बुरी खबर यह है कि कोरोना का एक और नया वैरिएंट सामने आ गया है। जो कोरोना के दो खतरनाक वैरिएंट डेल्टा और ओमिक्रोम से मिलकर बना है। साइप्रस में मिले इस वैरिएंट को वैज्ञानिकों ने डेल्टाक्रोम वैरिएंट नाम दिया है। 

साइप्रस यूनिवर्सिटी के जीव विज्ञान के प्राध्यापक लियोन्डियोस कोस्ट्रिक्स का इसे 'डेल्टाक्रॉन' नाम दिया गया है, क्योंकि इसके ओमिक्रॉन जैसे आनुवंशिक लक्षण हैं और डेल्टा जैसे जीनोम हैं। रिपोर्ट के अनुसार साइप्रस में डेल्टाक्रॉन के अब तक 25 मरीज पाए गए हैं। 

डेल्टाक्रोम बन सकता है चिंता की विषय 
हालांकि साइप्रस के वैज्ञानिकों ने यह नहीं बताया है कि यह वैरिएंट कितना खतरनाक होगा। लेकिन अगर डेल्टाक्रोम के मूल वैरिएंट की बात करें तो डेल्टा वैरिएंट ओमिक्रोम के मुकाबले कम संक्रामक था, लेकिन इसमें होने वाली मृत्यु दर बहुत ज्यादा थी। वहीं दूसरी तरफ ओमीक्रोम वैरिएंट में मृत्यु दर बेहद कम है , लेकिन इसकी संक्रमण दर इतनी ज्यादा है कि अमेरिका में एक दिन में 10 लाख लोग संक्रमित हो गये थे। 

ऐसे में अगर डेल्टाक्रोम वैरिएंट में ओमीक्रोम जैसा संक्रमण और डेल्टा वैरिएंट जैसी मृत्युदर हुई तो पूरी दुनिया की चिकित्सा व्यवस्था धरासाई हो सकती है। हालांकि इस वैरिएंट पर वैक्सीन का कितना असर होगा इस बात की भी खुलासा अभी नहीं किया गया है। 

Follow Us