सनसनी: पहली बेगम ने की तलाक के लिए अत्यधिक रुपयों की मांग, तो पति ने कर दी दूसरी पत्नी की हत्या

सनसनी: पहली बेगम ने की तलाक के लिए अत्यधिक रुपयों की मांग, तो पति ने कर दी दूसरी पत्नी की हत्या

जयपुर। जयपुर ग्रामीण जिला पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल ने आज जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस थाना आंधी क्षेत्र में 28 अप्रैल को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 148 तन डांगरवाड़ा पर एक अज्ञात महिला की लाश मिली थी।

घटनास्थल को देखने से प्रथम दृष्टया हत्या का मामला प्रतीत होने पर थाना आंधी पर प्रकरण संख्या 75/ 2022, धारा 302, 201 भारत में दर्ज किया गया था। घटना की गंभीरता को देखते हुए मनीष अग्रवाल के द्वारा धर्मेंद्र कुमार यादव अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुख्यालय जिला जयपुर ग्रामीण के निर्देशन में थाना आंधी के नेतृत्व में विशेष टीम गठित की गई।

विशेष टीम द्वारा अपने अथक प्रयास से ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

यह था पूरा मामला

28 अप्रैल को सुबह 8:15 बजे सूचना मिली कि डांगरवाड़ा के पास एनएच 148 दौसा से मनोहरपुर लाइन की तरफ सड़क के नीचे एक महिला का शव पड़ा है जिस पर थानाधिकारी आंधी द्वारा मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया गया तो एनएच 148 के नीचे एक डंडे के पास एक महिला का शव पड़ा हुआ मिला जिसने हल्के गुलाबी रंग का सलवार सूट पहन रखा था।

पैरों में काले रंग की जूतियां है पैरों में पायल हाथों में चूड़ियां पहने हुए हैं महिला का सिर कुचला हुआ है पास में तो खून आलूदा पत्थर पड़े हुए हैं जिससे प्रथम दृष्टया अज्ञात महिला की हत्या का प्रतीत होने पर थानाधिकारी थाना आंधी के द्वारा अज्ञात मुजरिम के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

पुलिस टीम द्वारा की गई कार्यवाही

पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया एस एस एल डॉग स्क्वायड एम ओ बी टीम द्वारा घटनास्थल से साक्ष्य संकलन किया गया। गठित टीम द्वारा अज्ञात मृतक की पहचान के अथक प्रयास कर सोशल मीडिया व अन्य तरीकों से मृतका की पहचान की गई। मृतका की पहचान ओम कंवर उर्फ कोमल पत्नी विजय सिंह उम्र 30 निवासी न्यारी पुलिस थाना जायल जिला नागौर राजस्थान के रूप में हुई जिस पर गठित टीम द्वारा ब्लाइंड मर्डर को वर्कआउट करने में अथक परिश्रम कर सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। विशेष साइबर तकनीक का प्रयोग किया एवं सूचना संकलित कर जानकारी जुटाई गई। तो यह तथ्य सामने आया कि मृतका औमकंवर के हैंडबैग में से 26 अप्रैल का इंद्रगढ़, सुमेरगंज से दुर्गापुरा का दो सवारी का एक रेल टिकट व 27 अप्रैल का एक लो फ्लोर बस का सांगानेरी थाना से अजमेरी गेट के दो टिकट मिले तथा जयपुर से दौसा तक के 2 सवारियों के बस टिकट मिले।

इसी आधार पर दौसा से आंधी तक सीसीटीवी फुटेज देखे गए व मृतका के बैग से मिले बंद मोबाइल व अन्य सामान के आधार पर तकनीकी सहायता प्राप्त कर मुजरिम की पहचान की गई।

बता दें कि पुलिस ने दो आरोपियों  इमाम हुसैन पुत्र छुट्टन शाह निवासी और दूसरा शहजाद खां पुत्र छोटू खां को गिरफ्तार किया गया।

आरोपियों ने बताया की पत्नी पिछले दो-तीन साल से आ नहीं रही थी इस कारण आरोपी ने अपने दोस्त शहजाद से संपर्क किया कि मेरा कहीं दूसरा निकाह करा दो शहजाद मृत का ओम कवर को अपनी बहन के कारण जानता था एवं मृतिका के मोबाइल नंबर के निरंतर संपर्क में था शहजाद ने मृतका से निकाह का ऑफर दिया तथा आरोपी इमाम हुसैन के जरिए मोबाइल वार्ता करवाई जिस पर दोनों आपस में निकाह करने पर सहमत होने पर इमाम हुसैन मित्र का को जयपुर से अपने साथ अपने गांव इंदरगढ़ ले आया जहां पर उसके ससुराल वालों को जानकारी होने पर इसका विरोध किया एवं लाखेरी थाना में इसके विरुद्ध एक परिवार प्रस्तुत कर दिया जब पुलिस उसके घर पर आए तो मृतका ओम कवर को लेकर इंद्रगढ़ किराए के मकान पर रहने लगा ससुराल वालों ने वहां भी पीछा किया वह छोड़ने के लिए दबाव बनाया तथा नहीं छोड़ने पर प्रथम पत्नी से तलाक लेने के बदले में रुपयों की मांग व मेहर भरने की स्थिति में नहीं होने के कारण मृतिका को अपने रास्ते से हटाने के लिए अपने दोस्त शहजाद से वार्ता कर 26 अप्रैल को योजना अनुसार मित्र का को जयपुर व दोसा में मजदूरी करने के बहाने से जयपुर लेकर।

जहां पर शहजाद से टेलीफोन पर उसको दोसा बाईपास पर बुलाया तो वहां पर शहजाद मोटरसाइकिल लेकर आया इसके बाद ही तीनों एक ही मोटरसाइकिल दौसा बाईपास से वापी आए जहां पर एक होटल में चाय पी तथा मृतका व इमाम के बीच विवाद उत्पन्न होने पर मित्र का द्वारा आरोपी को गुस्से में अपशब्द कहे इस पर आरोपी शहजाद व इमाम हुसैन दोनों मृत का से नाराज हुए व शहजाद द्वारा अपने दोस्त इमाम को कहा गया कि यह 10 दिन में इतना गुस्सा कर रही है इसके साथ तेरी जिंदगी नहीं निभा सकती अगर इसको यहां छोड़ दिया तो यह अपने खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा देगी और अपने को फंसा देगी उसको खत्म कर देते हैं तू भी अपनी पति पत्नी रख लेगा और मैं भी बच जाऊंगा क्योंकि मैं नहीं इसको आप से मिलवाया था इस प्रकार दोनों आरोपी आपस में सलाह मशवरा करके मोटरसाइकिल से मनोहरपुर की तरफ चले तो डांगरवाड़ा गांव के पास सुनसान जगह देखकर खेत में रुके जहां पर पूर्व में बनाई गई योजना अनुसार शहजाद ने मृतका का मुंह भी जा तथा आरोपी इमाम हुसैन द्वारा पत्थर उठाकर उसके सर पर चेहरे पर वार किया गया जिससे उसकी मौके पर मिट्टी हो गई।

आरोपी इमाम हुसैन द्वारा अपनी प्रथम पत्नी से तलाक लेने पर घरवालों द्वारा अत्यधिक रुपयों की मांग करने व आरोपी के खिलाफ थाना लाखेरी जिला बूंदी में रिपोर्ट देने परमिट का को छोड़ने पर स्वयं व शहजाद के विरुद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने के डर से दोनों आरोपियों द्वारा सलाह मशवरा कर मृतक का को अपने रास्ते से हटाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से हत्या कर दी।

Follow Us