लाउडस्पीकर विवाद: RJD नेता तेजस्वी यादव ने पूछा सवाल, जब लाउडस्पीकर नहीं था तो भगवान...

लाउडस्पीकर विवाद: RJD नेता तेजस्वी यादव ने पूछा सवाल, जब लाउडस्पीकर नहीं था तो भगवान...

धार्मिक स्थानों पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल को लेकर चल रहे विवाद में अब राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया है। बता दें कि यूपी के जैसे बिहार में भी लाउडस्पीकरों को हटाने के लिए कुछ बीजेपी नेता मांग कर रहे हैं। ऐसे समय में तेजस्वी यादव ने भी इस विषय पर बोला है।

तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि लाउडस्पीकर को मुद्दा बनाने वालों से पूछता हूँ कि Loud Speaker की खोज 1925 में हुई तथा भारत के मंदिरो/मस्जिदों में इसका उपयोग 70 के दशक के आसपास शुरू हुआ। जब लाउडस्पीकर नहीं था तो भगवान और ख़ुदा नहीं थे क्या? बिना लाउडस्पीकर प्रार्थना, जागृति, भजन,भक्ति व साधना नहीं होती थी क्या?

उन्होंने आगे लिखा कि असल में जो लोग धर्म और कर्म के मर्म को नहीं समझते है वही बेवजह के मुद्दों को धार्मिक रंग देते है।आत्म जागरूक व्यक्ति कभी भी इन मुद्दों को तुल नहीं देगा। भगवान सदैव हमारे अंग-संग है। वह क्षण-क्षण और कण-कण में व्याप्त है। कोई भी धर्म और ईश्वर कहीं किसी LoudSpeaker के मोहताज नहीं है।

 

Follow Us