प्यार में पागल प्रेमिका ने प्रेमी की बेटी को उतारा मौत के घाट , ऐसे हुआ खुलासा.....

प्यार में पागल प्रेमिका ने प्रेमी की बेटी को उतारा मौत के घाट , ऐसे हुआ खुलासा.....

बहराइच :-: कहते हैं कि प्यार जब होता है। तो इंसान पागल हो जाता है। प्यार को पाने के लिए वह किस हद तक गुजर जाता है। वह खुद भी नहीं सोच पाता। मामला उत्तर प्रदेश के बहराइच जनपद का है जहां पर एक सनकी प्रेमिका का कारनामा जब सबके सामने आया तो सभी के पैरों तले जमीन खिसक गई। 

मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के बहराइच जनपद के मोतीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक युवती के अपने पड़ोसी (मुकेश) के साथ प्रेम संबंध थे। लेकिन यह प्यार रिश्ते में तब्दील नहीं हो पाया और मुकेश की शादी दूसरी महिला से हो गई। माशूका को यह बेवफाई नागवार लगी। इसके बावजूद माशूका ने अपने आशिक पर शादी करने को लगातार दवाब बनाए रखा, किन्तु वह नाकाम रही। प्रतिशोध में रविवार को प्रेमिका ने प्रेमी की चार वर्षीय बेटी को घर में ले जाकर ईंट से प्रहार हत्या कर दी। मोतीपुर पुलिस ने इस मामले में आरोपी प्रेमिका और उसके मां-बाप को गिरफ्तार कर लिया है।

Also Read सीएम योगी ने आबकारी सिपाहियों को दिया नियुक्ति पत्र

आखिर कैसे पुलिस पहुंची आरोपियों तक

घटना के संबंध में जानकारी देते हुए एसएसपी केशव कुमार चौधरी ने बताया कि मोतीपुर थाने के कुड़वा के मजरे कल्लू गौढ़ी निवासी मुकेश की चार वर्षीय बेटी प्राची की लाश सोमवार की सुबह घर से 10 मीटर दूर मिली थी। मुकेश के भाई शिवम कुमार की तहरीर पर इस मामले में रविवार को अपहरण की धाराओं में केस दर्ज किया गया था। शव का पोस्टमार्टम कराकर एफआईआर में हत्या की धारा की बढ़ोत्तरी की गई थी। एसएसपी ने घटना स्थल का दौरा कर तीन टीमों को गठित कर इस मामले के शीघ्र खुलासे के निर्देश दिए थे।

कहते हैं कि अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हो लेकिन कानून के लंबे हाथ उन तक पहुंची जाते हैं। ऐसा ही हुआ इस मामले में हुआ जब पुलिस ने छानबीन की और गांव में सिविल ड्रेस में घटना के बारे में पूछा तो पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई।

शक के आधार पर मंगलवार सुबह एएसपी ग्रामीण अशोक कुमार, सीओ मिहींपुरवा डॉ. जंग बहादुर यादव के पर्यवेक्षण में एसएचओ मुकेश कुमार सिंह व उनकी टीम ने कल्लू गौढ़ी गांव में दबिश देकर मंजू कुमारी, उसके पिता हरिराम व मां ननका को हिरासत में लेकर मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की । जिसमें मंजू ने बालिका प्राची की ईंट से प्रहार कर बेहोश कर गला दबा कर हत्या, ननका व हरिराम ने बालिका के शव को प्लास्टिक बोरी में रखकर छत पर जलौनी के ढेर में छिपाने, उसी दिन देर रात शम्भू के घर के पीछे शव फेंकने का जुर्म कबूल किया। जिस ईंट से प्रहार कर उसे घायल किया। वह खून सनी ईंट भी बरामद हो गई है। गिरफ्तार आरोपियों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया है।

 

Related Posts

Follow Us