राष्ट्रीय मध्याह्न भोजन रसोईया फ्रंट के तत्वाधान के तहत की गई रसोईया की बैठक लिए गए कई निर्णय में

राष्ट्रीय मध्याह्न भोजन रसोईया फ्रंट के तत्वाधान के तहत की गई रसोईया की बैठक लिए गए कई निर्णय में

सुपौल त्रिवेणीगंज मुख्यालय स्थित हाईस्कूल प्रांगण में रविवार को संगठन के प्रदेश प्रभारी राजेश कुमार की अध्यक्षता में रसोईया सह सहायकों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद संगठन के संस्थापक सह राष्ट्रीय महासचिव रामकृपाल ने रसोइयों को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान समय में रसोइयों की हालत बद से बदतर हो गया है। ना तो इन्हें काम की सुरक्षा है। और ना ही जीने लायक मानदेय की व्यवस्था है। सरकार इन रसोइयों को नौकरी के नाम पर इनका चौतरफा शोषण कर रही है। इनके संवैधानिक अधिकारों का हनन कर रही है। जो न्यायसंगत नही है। वर्तमान में मिलने वाला मानदेय इतना अल्प है। कि महीने भर का रसोइया सब्जी भी नही खरीद सकती है। वही इन रसोइयों के वोट से सांसद, विधायक बनकर फाइव स्टार होटलों में एक टाइम पांच हजार का नाश्ता करते है। जो इन्हें चुनकर भेजा है। उन्हें सुखी रोटी भी नसीब नही हो रही है। आए दिन इन जनप्रतिनिधियों के भाषणों में नारी शसक्तीकरण की खोखली भाषणबाजी होती जो देश हित व राज्यहित में नही है। उन्होंने सरकार से तत्काल मांग किया सरकार इन रसोइयों को कम से कम प्रत्येक माह दस हजार रुपये मानदेय भुगतान करते हुए इनके सुरक्षित भविष्य की गारंटी दें। बैठक को कृष्णदेव मंडल, गौरीशंकर मंडल, मंजुला देवी, रंजू देवी, रानी देवी, विभा देवी, शोभा देवी, बबीता देवी आदि ने भी संबोधित किया। मौके पर सैकड़ो की संख्या में रसोइयों उपस्थित थे।

रिपोर्टः मणिकांत कुमार मोनू त्रिवेणीगंज सुपौल

Also Read G7 ने रूस के खिलाफ बनाई साजिश, भारत का इससे क्या होगा फ़ायदा

Related Posts

Follow Us