अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक बने डॉ सुमन कुमारी

अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक बने डॉ सुमन कुमारी

सुपौल त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक डॉ सुमन कुमारी ने अपना पदभार ग्रहण की और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बैठक कर दिए कई आवश्यक दिशा निर्देश बता दें कि इससे पूर्व अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक डॉक्टर आरपी सिन्हा काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे जिसे इलाज के लिए पटना ले जाने के क्रम में दिनांक 8/6/22 को सुपौल जिले के किशनपुर चकला में उनकी मृत्यु हो गई मौत की खबर होते ही स्वास्थ्य महकमा में शोक की लहर दौड़ पड़ी जानकारों के अनुसार माने तो अनुमंडलीय अस्पताल प्रभारी उपाधीक्षक के दौर में डॉक्टर इंद्रदेव यादव थे लेकिन 2015 में डॉक्टर इंद्रदेव यादव अनुमंडलीय अस्पताल का प्रभारी उपाधीक्षक हुआ करते थे। लेकिन इनका कार्यकाल काफी विवाद में घिरे रहने के कारण इनको प्रभारी पद से हाथ धोना पड़ा था। इतना ही नहीं इनके उपर तृतीय सदस्य जांच टीम का गठन हुआ था उक्त जांच के क्रम में डॉक्टर इंद्रदेव यादव के उपर गंभीर आरोप लगा था। आश्चर्यजनक बात यह है की वर्ष 2008 से पहले इनका अन्य जगह स्थानांतरण किया गया था लेकिन वर्ष 2008 में बाढ़ ने कोसी में भारी तबाही मचाई थी। उस को मद्देनजर रखते हुए डॉक्टर इंद्रदेव यादव का स्थानांतरण सुपौल जिला कर दिया गया था। लेकिन अपने ऊंचे पैरवी  पहुंच के बल पर वर्ष 2008 से आज तक अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज में अपने पद पर बने हुए हैं। इतना ही नहीं डॉक्टर इंद्रदेव यादव का स्वास्थ्य कर्मियों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं था। अक्सर यह स्वास्थ्य कर्मी से लेकर विभाग में भी यह चर्चा का विषय बना हुआ रहा करते थे। जिस कारण डॉक्टर इंद्रदेव यादव को प्रभारी पद से हाथ धोना पड़ा इतना ही नहीं इनके इस आचरण के चलते तत्कालीन सिविल सर्जन सुपौल के द्वारा इनका अन्ययंत्र स्थानांतरण हेतु प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग बिहार पटना अपने पत्रांक 1201 दिनांक 28/6/19 को अनुशंसा किया गया था लेकिन अपने ऊंचे पैरवी एवं दबंगता के बल पर वर्तमान स्थिति तक अनुमंडलीय अस्पताल त्रिवेणीगंज में बने हुए हैं। इसीलिए स्वास्थ्य विभाग ने निष्पक्ष छवि वाले डॉक्टर सुमन कुमारी के उपर भरोसा जताया है  और उन्हें अनुमंडलीय अस्पताल प्रभारी उपाधीक्षक बनाया है। हर्ष व्यक्त करने में बीसीएम आदित्य कुमार बीएमसी यूनिसेफ के किशोर कुमार स्वास्थ्य प्रबंधक प्रेम चंद्र रंजन एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी पूछने पर डॉक्टर सुमन कुमारी ने बताया सबसे पहली प्राथमिकता हमारी यह होगी कि कि इस अनुमंडलीय अस्पताल में रोगियों को स समय समुचित इलाज करना एवं अस्पताल में जो व्यवस्था होनी चाहिए वह हर हाल में उपलब्ध किया जाएगा इसमें कर्मियों के द्वारा कोई भी कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और डॉक्टरों को स समय उपस्थित रहना होगा ताकि रोगियों को स समय समुचित इलाज हो सके यह मेरी 

पहली प्राथमिकता होगी और आशा कार्यकर्ता से संबंधित पूछने पर प्रभारी उपाधीक्षक डॉ सुमन कुमारी ने बताई के जो भी फर्जी आशा कार्यकर्ता बहाल किए गए हैं उन पर विधिवत जांच कर कार्रवाई की जाएगी और किसी भी कीमत पर गलत बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और मैं चाहता हूं कि मेरे कार्यकाल में अनुमंडलीय अस्पताल सुचारू रूप से चले मौके पर प्रखंड लेखापाल सुभाष सिंह लिपिक कृष्ण कमल  सिंह, स्वास्थ्यकर्मी शंकर स्वर्णकार जीएनएम सुप्रिया, खुशबू, पवन कुमार, धीरेंद्र प्रताप, संदीप कुमार आदि उपस्थित थे

Also Read दो मोटरसाइकिलें आपस मे टकराई एक व्यक्ति की दर्दनाक मौत

रिपोर्ट: संतोष कुमार सुपौल

Related Posts

Follow Us