प्रेम संबंध में बाधा बन रहे जीजा को साली ने उतारा मौत के घाट , जानिए कैसे रची हत्या की साजिश

प्रेम संबंध में बाधा बन रहे जीजा को साली ने उतारा मौत के घाट , जानिए कैसे रची हत्या की साजिश

अमरोहा :: कहते हैं कि जब प्यार होता है तो कुछ अच्छा और बुरा नहीं दिखता लोग प्यार को पाने के लिए हर हद तक गिर जाते हैं और इतना गलत कर बैठते हैं कि रिश्ते नाते और संबंध भी नहीं देखते क्योंकि उनके दिमाग पर सिर्फ संबंध होता है तो वह प्रेम संबंध। उत्तर प्रदेश के अमरोहा में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां पर प्रेम संबंधों में बाधक बन रहे जीजा को साली ने प्रेमी के साथ षड्यंत्र रच मौत के घाट उतार दिया। और तो और सबसे बड़ी बात यह है कि बड़ी बहन ने भी इस तंत्र में उसका साथ दिया था।

साली की पहरेदारी जीजा को पड़ी भारी , मौत 

Also Read भारतीय नौसेना युद्धाभ्यास नसीम अल बहर - 2022 समुद्री चरण में हुई शामिल

आपको बता दें कि यह मामला उत्तर प्रदेश के अमरोहा जनपद के ढकिया चमन गांव का है। जहां पर रूकसाद की शादी 14 साल पहले बिजनौर के थाना धामपुर के निंदडू गांव की रहने वाली शमीमा के साथ हुई थी। दोनों का कोई बच्चा नहीं है। युवक मजदूरी करता था। शादी के कुछ समय बाद से ही साली चांदनी भी बहन के घर आकर रहने लगी। उसकी शादी अभी नहीं हो पाई है। साली के चुचेला कला गांव के रहने वाले गुड्‌डू से प्रेम संबंध थे। रूकसाद को इसकी भनक लगी तो वह विरोध करने लगा, गुपचुप तरीके से वह साली पर नजर भी रख रहा था और आने-जाने पर भी रोक लगा दी थी। इससे खफा चांदनी ने बहन के साथ मिलकर जीजा को ही रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली।

हत्या के बाद बाग में दफना दिया शव

घटना बीते 26 जून की है जब रुखसाद को अपनी पत्नी और साली किसी रिश्तेदार के यहां ले जाने के बहाने अपने साथ ले गई और बछरायूं के एक आम के बाग में दोनों बहनों ने मिलकर युवक को शराब में नशीली दवा मिलाकर पिला दी। रूकसाद के होश खोने के बाद गुड्‌डू ने गला दबाकर उसे मार डाला। इसके बाद बाग में ही फावड़े से गड्‌ढा खोदकर शव को दबा दिया। इसके बाद घटना के अगले दिन 27 जून की सुबह दोनों बहने घर पहुंच गईं। लेकिन जब 2 दिन युवक घर नहीं पहुंचा तो दोनों बहनों से परिजनों ने उसके बारे में पूछताछ की इस पर दोनों बहनों ने जवाब दिया कि वह हमसे बिना बताए कहीं चले गए इस पर परिवार वालों को कुछ शक हुआ और जब रुखसाद 2 दिन तक घर नहीं पहुंचा तो मां बिलकिस ने फुफेरे भाई जसीम को इस बात की जानकारी दी। ग्राम प्रधान की मदद से कोतवाली पुलिस को सूचना दी गई। मामला पुलिस के संज्ञान में आने के बाद पुलिस मामले की जांच में लग गई और घटना के संबंध में खोजबीन शुरू कर दी जब पुलिस ने रुखसार की बीवी और साली से कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल लिया कहते हैं ना कि कानून के हाथ लंबे होते हैं। वह आरोपियों तक आराम से पहुंच जाते हैं।

कोतवाली प्रभारी सुनील मलिक के अनुसार दोनों बहनों से पूछताछ की गई तो उन्होंने कबूला कि रूकसाद मूक-बधिर था। वे युवक को बछरायूं के एक बाग में ले गईं और वहां प्रेमी के साथ मिलकर हत्या कर दी। साली ने प्रेम संबंध में बाधक बनने पर जबकि पत्नी अपनी बहन को हमेशा साथ ही रखना चाहती थी, रूकसाद इसका विरोध करता था। यही वजह रही है कि दोनों बहनों ने हत्या की योजना बना डाली। डिडौली थाना प्रभारी ने कहा, "पत्नी की निशानदेही पर युवक के शव को बछरायूं थाना इलाके से बरामद कर लिया गया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। साथ ही हत्या में शामिल साली, प्रेमी और रूकसाद की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ चल रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।"

 

Recent News

Related Posts

Follow Us