1 सिक्के ने बदल दी किस्मत, कांग्रेसी उम्मीदवार को हरा भाजपा की बाटलू निशा बनी पार्षद

1 सिक्के ने बदल दी किस्मत, कांग्रेसी उम्मीदवार को हरा भाजपा की बाटलू निशा बनी पार्षद

रीवा। कहते है कि चुनाव में हर वोट का महत्व होता है। कभी कभी यही एक वोट हार-जीत का कारण भी बन जाता है। लेकिन मध्यप्रदेश के रीवा में हुए निकाय चुनावों में वोटों की गणित ऐसा फंसा की जीतने वाले का चयन वोट से नहीं बल्कि सिक्का उछाल कर किया गया। 

मामला रीवा के मऊगंज के वार्ड 10 का है, जहाँं पार्षद पद के भाजपा का कांग्रेस प्रत्यासियों को बराबर 382-382 वोट मिले थे। काफी सोच विचार के बाद टॉस के माध्यम से विजय उम्मीदवार चुनने का फैसला लिया गया। टॉस के लिए उछाले गये सिक्के ने भाजपा की बाटलू निशा की किस्मत का साथ दिया और वे कांग्रेस की रेशमा खान को हरा कर पार्षद बन गई। 

पहले भी किस्मत तय कर चुका है सिक्का

मध्य प्रदेश में यह पहला मौका नहीं है जब निकाय चुनाव में विजेता प्रत्यासी का चुनाव टॉस उछाल कर किया गया हो। इससे पहले वर्ष 2014 में भोपाल के बेरसिया नगर पालिका के वार्ड संख्या 14 में भी इसी तरह की घटना हुई थी। उस समय इमरत कुशवाह और खेम सिंह को बराबर 170-170 वोट हासिल हुए थे। जिसके बाद टॉस किया गया था।  

 

Follow Us