अधिकारियों की उपेक्षा से परेशान मंत्री, दिनेश खटिक और जतिन प्रसाद को मनाने में जुटी सरकार

अधिकारियों की उपेक्षा से परेशान मंत्री, दिनेश खटिक और जतिन प्रसाद को मनाने में जुटी सरकार

भाजपा की सरकार आने पर लालफीताशाही बढ़ जाती है। ऐसा सोचना अभी तक सिर्फ आम जनता का ही था, लेकिन अब योगी सरकार 2.0 में मंत्री भी अधिकारियों के रवैये से परेशान होकर इस्तीफा देने का विचार कर रहे है। जल शक्ति विभाग और लोक निर्माण विभाग में हुई कार्रवाई के बाद से दोनों ही विभागों के मंत्री नाराज चल रहे है। जबकि सियारी गलियारे में हलचल तो यहाँ तक है कि जल शक्ति विभाग के राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने इस्तीफा तक दे दिया है। दिनेश कल मंत्रियों की बैठक में शामिल नहीं हुए थे। बताया जा रहा है कि खटीक विभागीय अधिकारियों द्वारा उपेक्षा किए जाने से नाराज हैं।

दरअसल, मंगलवार देर शाम से जल शक्ति विभाग के राज्यमंत्री दिनेश खटीक के इस्तीफे की चर्चा तेज हो गई। कहा जाने लगा कि दिनेश खटिक नाराज हैं। उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। वह अपने विभाग में काम का बंटवारा न होने से नाराज हैं। दिनेश खटीक ने सरकारी गाड़ी और सुरक्षा भी छोड़ दी है। इसके साथ ही दिनेश खटीक न तो अपने सरकारी आवास पर हैं और न ही मेरठ के हस्तिनापुर स्थित अपने निजी घर हैं। लेकिन फिलहाल उनका मोबाइल स्विच ऑफ मिल रहा है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी ऐसे किसी इस्तीफ की पुष्टि नहीं की है। 

क्यों नाराज है जतिन प्रसाद

जतिन प्रसाद विभागीय कार्यावाही के लिए नाराज बताये जो रहे है। दरअसललोक निर्माण विभाग के इंजीनियरों और अफसरों के तबादले में हुई धांधली में दो और अधिकारियों पर गाज गिरी है। प्रशासनिक अधिकारी और प्रधान सहायक को निलंबित कर दिया गया है। दोनों जेई सेक्शन में तैनात थे। कई अन्य अफसरों की फाइलें सीएम योगी को भेजी गई हैं। इससे पहले सोमवार को सीएम योगी ने बड़ा एक्शन लेते हुए पीडब्ल्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद के ओएसडी अनिल कुमार पांडेय को हटा दिया था। उन्हें डेपुटेशन से वापस केंद्र में भेजने का आदेश भी जारी करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति कर दी गई थी।

 

 

 

 

Follow Us