बांदा व इटावा में भी खंड-खंड हुआ बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे , बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे मे आई दरारे

बांदा व इटावा में भी खंड-खंड हुआ बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे , बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे मे आई दरारे

बांदा :: उद्घाटन को महज आज छठवां दिन है और प्रदेश के मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट का वाहन दौड़ने के बाद ही यह हाल हुआ की कहा नहीं जा सकता। बीते दिन बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की गुणवत्ता तो देखी गई थी। क्योंकि जनपद जालौन के समीप बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में गड्ढा हो गया था। जिससे आनन-फानन में सही किया गया। लेकिन कहते हैं ना जब न्यू कमजोर होती है, तो मकान ज्यादा देर तक नहीं चलता। यही हाल इस समय बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का है। एक जगह पोछ-पाछ के सही किया जाता है। तो वही दूसरी जगह बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे खंड खंड में तब्दील हो जाता है।

पहले जालौन फिर बांदा और इटावा मे खंड-खंड हुआ बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे

Also Read बिजली चोरी मामले में तीन महिला सहित छ: के विरुद्ध थाना में प्राथमिकी दर्ज

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उद्घाटन के बाद बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर वाहन फर्राटे भरने लगे थे कि उद्घाटन के बाद ही पहली बारिश ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की गुणवत्ता की पोल खोल दी। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करते हुए प्रदेश सरकार और एक्सप्रेस-वे की काफी तारीफ की थी। जो कि महज 6 दिन में ही सामने आ गई। बुंदेलखंड के विकास की राह दिखा गए, प्रधानमंत्री मोदी का विकास जनता के सामने 6 दिन में ही बह गया। सूत्रों से मिल रही जानकारी एवं मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बता दें कि बांदा जिले में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की दीवार ढह जाने की सूचना मिली है। इसके साथ-साथ बांदा और इटावा में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे मैं कई जगह दरारें आने की सूचना मिली है। जिससे वहां हड़कंप मच गया और आनन-फानन में दीवार को बनाने का काम शुरू हुआ और कुछ घन्टों में मरम्मत का काम पूरा हो गया । 

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में हुए गड्ढे के कारण वाहन हुए थे छतिग्रस्त

गौरतलब है कि बीते दिन बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे मैं जालौन के समीप गड्ढा हो गया था जिसके बाद यह बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे एक बार फिर सुर्खियों में आ गया था इसकी गुणवत्ता पर इसके बाद सवाल उठने शुरू हो गए थे। विपक्षी दल ने भारतीय जनता पार्टी पर बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को लेकर काफी निशाना साधा। सड़क में गड्‌ढा हो जाने से तीन वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। तो वही इटावा में गुरुवार की रात हुई तेज बारिश के बाद बेलाहार से कुदरैल तक एक्सप्रेसवे के लगभग आठ किलोमीटर क्षेत्र में मिट्टी कटान से छह जगह सड़क धंस गई है। बांदा में शहर से लगभग पांच किलोमीटर दूर चहितारा गांव के समीप एक्सप्रेस-वे की दीवार बारिश के चलते ढहने की सूचना मिली है फिलहाल इसकी अभी कोई प्रशासनिक पुष्टि नहीं की गई है । जिससे निर्माण कार्य को लेकर सवाल उठने लगे हैं और एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता की पोल खुलती नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि चहितारा गांव जाने वाली सड़क पर अण्डरपास के समीप बने ब्रिज की दीवार ढह गई है। फिलहाल इस सम्बन्ध में कोई भी अधिकारी कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं। 

 

 

Follow Us