13 साल पुराने धोखाधड़ी मामले में जमानत याचिका हुई खारिज , जेल भेजा गया आरोपी

13 साल पुराने धोखाधड़ी मामले में जमानत याचिका हुई खारिज , जेल भेजा गया आरोपी

उरई। कहते हैं कि कानून के घर देर है अंधेर नहीं. न्यायपालिका सभी के लिए बराबर होती है अगर किसी ने अपराध किया है तो उसे सजा जरूर मिलेगी यह साबित हो गया उत्तर प्रदेश के जनपद जालौन की जिला अदालत में जहां पर 13 साल पुराने धोखाधड़ी के मामले में आरोपी की जमानत याचिका खारिज कर उसे जेल भेज दिया गया। आपको बता दें कि जनपद जालौन के एट थाना क्षेत्र हरदोई गुर्जर के निवासी अरुण सिंह गुर्जर को 10 जुलाई को उरई कोतवाली पुलिस ने 13 वर्ष पुराने धोखाधड़ी के मुकद्दमे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। आरोपित ने पहले सीजेएम कोर्ट में जमानत याचिका डाली। सीजीएम कोर्ट में उसकी जमानत खारिज कर दी गई थी। इसके बाद अरुण सिंह के पैरोकारों ने जिला जज के यहां जमानत का प्रार्थना पत्र डाला। जिला जज की कोर्ट में भी उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी गई है।

क्या है पूरा मामला

Also Read शादीशुदा प्रेमी ने सुपारी देकर करवाई प्रेमिका की हत्या , प्रेमिका की सांसे थमने तक.....

आपको बता दें कि वर्ष 2009 में कोमल किशोर पुत्र गनपत सिंह व उनके भाई अर्जुन सिंह की एक जमीन की फर्जी रजिस्ट्री दूसरे लोगों को खड़ा करा कर दी गई थी। इस मामले में अरुण कुमार सिंह पुत्र राम किशोर सिंह, सुरेशवती पुत्री करतार सिंह, आशीष सिंह पुत्र कौशल किशोर सिंह, प्राचिका सिंह समेत छह लोगों के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। 13 साल से मुकदमा सीजीएम कोर्ट में विचाराधीन है, लेकिन आरोपित फरार चल रहा थे। बीते 10 जुलाई को पुलिस ने आरोपी को जब गिरफ्तार किया और उसे जेल भेज दिया जिसके बाद आरोपी ने जमानत याचिका डाली लेकिन उसे निराशा ही हाथ लगी न्यायपालिका ने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी। जिला शासकीय अधिवक्ता लखन लाल निरंजन ने बताया कि जमानत याचिका खारिज होने के बाद आरोपित को जेल भेज दिया गया है।

  • रिपोर्ट दीपू द्विवेदी

Related Posts

Follow Us