कलेक्टर पर लगा अभद्र भाषा प्रयोग करने का आरोप , जनसंपर्क आयुक्त और संघ से शिकायत

कलेक्टर पर लगा अभद्र भाषा प्रयोग करने का आरोप , जनसंपर्क आयुक्त और संघ से शिकायत

अम्बिकापुर  : अपने कार्यशैली की वजह से सरगुजा कलेक्टर कुंदन कुमार एक बार सुर्खियों में हैं। कलेक्टर के विरुद्ध जनसम्पर्क कार्यालय अम्बिकापुर में पदस्थ सहायक संचालक और सहायक सूचना अधिकारी ने अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर कार्यालय बुलाकर फटकार लगाने एवं नियम विरुद्ध तरीके से अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर एसडीएम कार्यालय में अटैच करने की बात कही है। सहायक सूचना अधिकारी एवं सहायक संचालक ने छत्तीसगढ़ जनसंपर्क अधिकारी संघ से उक्त मामले की शिकायत की है। साथ ही आयुक्त जनसंपर्क संचालनालय को भी अवगत कराया है।


 

Also Read Kanpur Metro Update : टीबीएम 'नाना' ने पार किया मील का पत्थर

छत्तीसगढ़ जनसंपर्क अधिकारी संघ को किए शिकायत पत्र में उल्लेख किया गया है कि 3 अगस्त को शाम 7 बजे सरगुजा कलेक्टर कुंदन कुमार के द्वारा जिला जनसंपर्क कार्यालय अम्बिकापुर में पदस्थ सहायक संचालक एवं सहायक सूचना अधिकारी को अपने कार्यालय कक्ष में बुलाकर कार्यक्रम कवरेज एवं समाचार को लेकर अभद्र भाषा प्रयोग करते हुए गाली -गलौच किया । इसके साथ ही धमकी दी गई कि तुम लोग कलेक्टर का पावर नहीं जानते अगर मेरे को गुस्सा आ गया तो तुम दोनों कहीं दिखाई नहीं दोगे । तुम लोग केवल सीएम का ही कार्य करते हो मेरे खिलाफ साजिश रचते हो कहते हुए बहुत ही अमर्यादित ढंग से पेश होकर बदतमीजी की । दोनों अधिकारियों ने संघ को अवगत कराया है कि उनके द्वारा  2 अगस्त को कलेक्टर द्वारा महिला एवं बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में दिए गए निर्देश एवं बयान के आधार पर समाचार जारी किया गया । उक्त समाचार को कलेक्टर द्वारा असत्य करार देते हुए साजिश के तहत जारी करने की बात कहते हुए उनके साथ अभद्र व्यवहार किया । प्रकरण में कलेक्टर कुंदन कुमार का पक्ष जानने उनके व्यक्तित्व मोबाइल नंबर पर सम्पर्क किया गया। कॉल रिसीव नहीं करने की वजह से उनका पक्ष नहीं आ सका।

 

नियम विरुद्ध एसडीएम कार्यालय में किया अटैच ,जनसंपर्क आयुक्त से वापस करने लिखा शिकायत पत्र 


जनसंपर्क विभाग  सीधे सीएम के अधीन पृथक  विभाग रहता है। जिसका प्रमुख कार्य शासन की योजनाओं का प्रचार प्रसार और अधिकारियों के आदेश निर्देश को प्रसारित करना रहता है। उनकी पदस्थापना, तबादला संबंधी समस्त अधिकार  संचालनालय जनसम्पर्क के अधीन होते हैं। जनसपंर्क विभाग के कर्मचारियों की दीगर कार्यों दीगर विभागों में सेवाएं नहीं ली जा सकती। जबकि नाराजगी के दूसरे दिन ही कलेक्टर सरगुजा कुंदन कुमार ने सहायक सूचना अधिकारी सुखसागर वारे को सीतापुर अनुविभाग अंतर्गत जिले में संचालित योजनाओं के प्रचार प्रसार के नाम पर जिला कार्यालय जनसंपर्क से हटाकर एसडीएम सीतापुर कार्यालय में कार्य करने अटैच कर दिया है। जिसकी शिकायत आयुक्त जनसंपर्क से की गई है। जिसमें उल्लेख किया गया है कि इस प्रकार के आदेश से कार्यालयीन कार्य तथा शासन के महत्वपूर्ण योजनाओं एवं कार्यक्रमों के प्रचार प्रसार का कार्य प्रभावित होगा। संयुक्त संचालक ने  सहायक सूचना अधिकारी सुखसागर वारे को जिला जनसंपर्क कार्यालय सरगुजा, अम्बिकापुर यथाशीघ्र कार्य करने हेतु आदेशित करने की मांग की है। 

 

अप्रिय घटना घटी तो कलेक्टर कुंदन होंगे जिम्मेदार 

 संघ को किए शिकायत पत्र में उल्लेख किया गया है कि कलेक्टर जिले का एक प्रमुख जिम्मेदार अधिकारी होता है उनके इस प्रकार के अभद्र व्यवहार से हम मानसिक रूप से प्रताड़ित और क्षुब्ध हैं। अगर इसके पश्चात हमारे साथ कोई भी अप्रिय घटना घटित होती है तो उसके लिए पूर्ण जिम्मेदार कलेक्टर कुंदन कुमार होंगे ।

 

 

 

 

बलरामपुर में अर्दली ने लगाया था मारपीट का आरोप 

     कलेक्टर कुंदन कुमार बलरामपुर  कलेक्टर रहते हुए भी अपने सख्त मिजाज एवं कार्यशैली को लेकर विवादों में रहे।  जनवरी 20202 में उनके अर्दली शिवनारायण ने गाली-गलौच करते हुए थप्पड़ मारने का गंभीर आरोप लगाते हुए कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री को पत्र तक लिख डाला था। बाद में अर्दली ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए बहकावे में आरोप लगाने की बात कही थी। जो राज्य स्तर पर चर्चा का केंद्र बना था।

Related Posts

Follow Us