जुलाई  में कार्यान्वयन में राज्य स्तर पर प्रथम स्थान पर रहा सुपौल लोक शिकायत निवारण अधिकार

जुलाई  में कार्यान्वयन में राज्य स्तर पर प्रथम स्थान पर रहा सुपौल लोक शिकायत निवारण अधिकार

(सुपौल) जिला लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के कार्यान्वयन में रैंकिंग निर्धारित। माह जुलाई 2022 में राज्य स्तर पर अव्वल रहा सुपौल जिला।श्री कौशल कुमार जिलाधिकारी सुपौल के कुशल नेतृत्व में बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के क्रियान्वयन में सुपौल जिला माह जुलाई 2022 राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

जिला जन-संपर्क पदाधिकारी, सुपौल ने बताया कि बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के क्रियान्वयन में उपलब्धियों के आधार पर जिलों की रैंकिंग निर्धारित मापदंडों एवं कार्य निष्पादन के आंकड़ों के आधार पर किया गया है, जिसमें सुपौल जिला के  81.45 अंक प्राप्त कर राज्य में प्रथम स्थान हासिल किया है। जबकि जमुई एवं शिवहर जिला क्रमश: द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहे।

Also Read ज़ेड स्कवयर मॉल मैनेजमेंट की 'गुंडई' के खिलाफ कोतवाली थाने में दर्ज हुई एफआईआर

उन्होंने बताया कि सुपौल जिला में नियमित समय-सीमा के अंदर 68.29 प्रतिशत निष्पादित परिवादों को लेकर 6.83 अंक प्राप्त हुए। वही समिक्षित माह में निर्धारित समय में 98.53 प्रतिशत मामलों का निवारण करने को लेकर 29.56 अंक प्राप्त हुए, जबकि लोक प्राधिकार की उपस्थिति मामले में सुपौल ने 9.56 अंक प्राप्त किया।

बताया कि जिले में नियत समय में निष्पादित प्रथम अपील में 7.01 अंक प्राप्त हुए, वहीं द्वितीय अपील के नियत समय में निष्पादित को लेकर सुपौल ने 8.33 अंक प्राप्त किया। वहीं उक्त माह में शस्ति अधीरोपन व अनुशासनिक कार्यवाही में 10 तथा जिला स्तर पर बैठक की कार्यवाही अपलोड करने में 05 अंक प्राप्त हुए, जिसे लेकर सुपौल जिला को राज्य स्तर पर अव्वल स्थान प्राप्त हुआ है।

रिपोर्ट: संतोष कुमार सुपौल 

Recent News

Related Posts

Follow Us