प्राइवेट चिकित्सक के यहां इलाज के लिए गई बालिका की मौत से मचा कोहराम , बिलखती मां का भी हाल बेहाल

प्राइवेट चिकित्सक के यहां इलाज के लिए गई बालिका की मौत से मचा कोहराम , बिलखती मां का भी हाल बेहाल

उरई। कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला राजेन्द्र नगर में एक प्राइवेट चिकित्सक के यहाँ इलाज कराने गई बालिका की मौत हो गई। बालिका के परिजनों में चिकित्सक पर इलाज में लापरवाही व गलत इंजेक्शन देने का आरोप लगाते हुए हंगामा काटना शुरू कर दिया। मामले की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी चिकित्सक को हिरासत में और उसके बाद बालिका के शव को भी कब्जे में ले लिया। कुंज देर बाद मृतक बालका की परिजनों ने डॉक्टर से समझौता कर मामला शांत कर दिया इसके बाद मृतक बालिका के परिजन बालिका को लेकर अपने गांव के लिए रवाना हो गए।
बता दे कि हमीरपुर जनपद के गांव जमावड़ी निवासी सुरेश शहर के मुहल्ला राजेन्द्र नगर हनुमान चबूतरा के पास किराए के मकान में रहता है। बुधवार को वह अपनी 7 वर्षीय पुत्री ज्योति को बुखार आने पर इलाज के लिए ले पास के ही प्राइवेट अस्पताल समीक्षा चिकित्सालय में ले गया था। जहां से इलाज कराकर वह अपनी पुत्री को वापस घर ले गया। जहां उसकी हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद वह दोबारा उसे अस्पताल ले गया जहां बालिका ने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है अस्पताल के डॉक्टर फूलसिंह राजपूत द्वारा इलाज में लापरवाही बरती गई और उसे गलत इंजेक्शन दे दिया गया। जिस कारण बालिका की मौत हो गई। वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस ने बालिका के शव को कब्जे में ले लिया। वहीं आरोपी चिकित्सक को भी हिरासत में लिया है।

एसीएमओ ने कहा 

Also Read कांग्रेस अध्यक्ष खरगे ने पीएम मोदी की गयी टिप्पणी का किया खण्डन

इस मामले में एसीएमओ डॉ वीरेन्द्र सिंह का कहना है। दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया है। फिर भी मामले की जांच पड़ताल की जा रही है। इस पर कोतवाल शिव कुमार का कहना है दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया है। अगर उन्हें किसी प्रकार की कोई तहरीर मिलती तो आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जाती। फिलहाल मामले में समझौता कर लिया गया है।

रिपोर्ट :: दीपू द्विवेदी(ब्यूरो चीफ)

Related Posts

Follow Us