परवाना दुरुस्त होने के बाद जेल से रिहा हुआ इत्र कारोबारी पीयूष जैन

परवाना दुरुस्त होने के बाद जेल से रिहा हुआ इत्र कारोबारी पीयूष जैन

कानपुर ::  इत्र कारोबारी पीयूष जैन लगभग 250 दिन बाद जेल से बाहर आने की कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद आज कानपुर जिला जेल से रिहा हुए। आपको बता दें जैसे ही पीयूष जैन अपने अधिवक्ता के साथ बाहर निकला तो मीडिया के कैमरे से बचता बचाता सीधे कार में बैठा और घर के लिए रवाना हो गया। पीयूष जैन ने जेल से बाहर आते वक्त मस्क पहना हुआ था।

गौरतलब है कि इत्र कारोबारी पूजन को बीते 1 सितंबर को हाईकोर्ट से 196 करोड रुपए की बरामदगी मामले में राहत मिल गई थी। इस मामले में उसकी पत्नी कल्पना जैन और बेटा प्रियांश जैन ने 10-10 लाख रुपए की एफडी बंधपत्र के रूप में दाखिल की थी। एचडी का सत्यापन होने के बाद बुधवार की शाम पियूष को जेल से छोड़ने का परवाना जेल भेजा गया। लेकिन पियूष के रिहा होने वाले परवाने में थाने के स्थान पर गलती होने के कारण रिहाई रोक दी गई। आपको बता दें परवाने में थाने के स्थान पर काकादेव लिख गया था। जिस के स्थान पर डीजीजीआई अहमदाबाद होना चाहिए था। दोनों में अंतर होने के कारण पीयूष की रिया है रोक दी गई थी। जिसके बाद आज जब परवाने में संशोधन किया गया उसके बाद आज यूज जैन को कानपुर जेल से जमानत पर रिहा कर दिया गया। 

Also Read लापरवाही या हादसा : ट्रेन में सफर कर रहे युवक के गर्दन में घुसी लोहे की रॉड, मौत

कानपुर जिला जेल से अपने अधिवक्ता अभय सिंह के साथ बाहर आए। तो वह कार में बैठकर घर निकल गए। मीडिया के सवालात न तो पीयूष जैन ने कोई जवाब दिया ना ही संतोषजनक उत्तर उनके अधिवक्ता द्वारा दिया गया।

रिपोर्ट :: अनुज जैन(ब्यूरो चीफ)

 

 

Related Posts

Follow Us