ऐसा क्या है रूस और चीन के बीच, जिससे चीन है परेशान

ऐसा क्या है रूस और चीन के बीच, जिससे चीन है परेशान

रूस के राष्ट्रपति ब्लामिदिर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच मुलाकात हुई। दोनों देशो के राष्ट्रपति की मुलाकात शंघाई सहयोग संघटन (एससीओ ) के शिखर सम्मलेन में हुई। इस बातचीत में पुतिन ने रूस का पक्ष रखा। जिसमें रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने चीन के यूक्रेन रुख पर नरमी से पेश आने पर संतुलित बताया है। 

दोनों देशों के बीच क्या है सम्बन्ध :

Also Read जीवों के जीवन में बुढ़ापा क्यों आता है

रूस  के रास्ट्रपति ब्लामिदिर पुतिन ने कहा कि अमेरिका और अन्य पश्चिमी देश एकध्रुवीकरण में लगे हुए हैं। जिसका परिणाम रूस और यूक्रेन युध्य हुआ है।अमेरिका, ताइवान में अपनी मिसाइलें  और सैटेलाइट तैनात किये हुए है, इसलिए ताइवान को चीन को जो किया है उसका मैं समर्थन करता हूँ। यूक्रेन के युध्य के बाद पहली बार ऐसा हो रहा है कि पुतिन शारीरिक रूप से किसी भी अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में हिस्सा ले रहे हैं। इस सम्म्मेलन में भारत ने भी भाग लिया है। इसलिए कुछ कहा नहीं जाता है कि रूस की मित्रता में चीन या फिर भारत आंगे रहेगा। क्योंकि रूस पर यूरोपी देशों और पश्चिमी क्षेत्रों के देशों के द्वारा प्रतिबन्ध लगाए जाने 
 के रूस ने भारत को सस्ते दामों पर कच्चा मॉल दिया है। जिसको भारत ने बहुत ज्यादा मात्रा में खरीद कर रूस और भारत की मित्रता को सुदृढ़ता प्रदान की है। 

 

 

Related Posts

Follow Us