बाघों के देश में हुआ चीतों का आगमन

बाघों के देश में हुआ चीतों का आगमन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर 70 वर्ष बाद पांच मादा और तीन नर चीतों को नामीबिया की राजधानी होसिया से लाया गया है। नामीबिया से लाये गए चीतों को प्रधानमंत्री मोदी ने मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में क़्वारंटीन मैदान में छोड़ा है। 

ग्वालियर एयरबेस में चिनूक हेलीकॉप्टर से चीतों को कूनो पहुँचाया गया। इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह, राज्यपाल, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा मौजूद रहे। स्वास्थ्य परीक्षण के बाद चीतों को चिनूक हेलीकॉप्टर से कूनो अभयारण्य के लिए भेजा गया हैं।  सभी चीतें  पूरी तरह से फिट हैं। चीतों का भारत में आगमन होना एक ऐतिहासिक काम हो रहा है। जिससे भारत के मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में अब बहुत बड़ी  टूरिज्म का लोकार्पण होगा। अतः इस प्रकार ग्वालियर क्षेत्र के लिए चीते वरदान का काम करेंगे। 

Also Read रोज-रोज के झगड़े से तंग आकर पति ने पत्नी की गला घोंट कर की हत्या , ऐसे खुला राज

भारत में वर्ष 1948 से चीते को नहीं देखा गया है। इसी वर्ष रामनुज सिंघदेव ने 3 चीतों का आखेट किया था, तब से लेकर चीतों को विलुप्त जंगली जानवरों की श्रेणी में मान लिया गया था। वर्ष 1970 में ईरान से चीतों के लेन की बात हुई थी परन्तु ये हो न सका। इसलिए केंद्र सरकार ने योजना बनायी  है कि 5 वर्ष में भारत में 50 चीतों का आगमन होगा। 

Recent News

Related Posts

Follow Us