जेड स्क्वायर मॉल की ‘गुंडई’ के आगे नतमस्तक हुई पुलिस, जबरन बंद कराया स्टोर

जेड स्क्वायर मॉल की ‘गुंडई’ के आगे नतमस्तक हुई पुलिस, जबरन बंद कराया स्टोर

कानपुर। करोड़ों रूपये का गृहकर न चुका पाने वाला जेड स्क्वायर माल मैनेजमेंट माल के अंदर की दुकानों में गुंडई कर अवैद्य वसूली का धंधा चला रहे है। वहीं रूपये न दे पाने पर गंभीर अंजाम भुगतने की धमकी दी जाती है। मामला कानपुर के बड़े चौराहे स्थित जेड स्क्वायर मॉल का है। जहाँ मॉल में स्थित ग्लोबस स्टोर को जेड स्क्वायर मॉल के मैनेजर अहमद सुहैल, शशांक त्रिपाठी, सुफियान खान और आकाश मिश्रा द्वारा जबरन बंद करवा रखा है और खाली करने का दबाव बना रहे है। स्टोर लगभग 18 दिनों से बंद चल रहा है।

ग्लोबस स्टोर के मैनेजर मोहन सिंह ने मॉल मैनेजमेंट पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि स्टोर और मॉल के बीच 12 साल की लीज का अनुबंध हुआ था जोकि 2024 में खत्म होगी, इस दौरान स्टोर द्वारा किराया एवं मेंटीनेंस का समय पर भुगतान कराया जाता रहा है। 31 अगस्त की दोपहर 2 बजे 4 लोगों ने आकर जबरन स्टोर की बिजली आपूर्ति रोक दी और स्टोर बंद करने की धमकी देते हुए महिलाओं समेत पूरे स्टॉफ को भद्दी गालियाँ देकर स्टोर खाली करने की धमकी दी। 

IMG-20220918-WA0009

मोहन के मुताबिक चारों आरोपियों ने स्टोर में आकर गैरकानूनी रूप से करोड़ों रुपये की मांग की और धमकी दी कि मांग पूरी न करने पर गंभीर अंजाम भुगतने पड़ेगे। 

पुलिस नहीं दर्ज कर रही एफआईआर, अवैद्य रूप से बंद कराया गया स्टोर

मैनेजर मोहन ने बताया कि पूरे प्रकरण को लेकर वह पुलिस के पास शिकायत लेकर गया था, लेकिन मॉल के रसूख के आगे पुलिस द्वारा कार्यवाही करना तो दूर, पीड़ित की एफआईआर भी दर्ज नही की जा रही है। इसी दौरान पीड़ित का आरोप है कि मॉल में स्टोर में करोड़ों का स्टॉक भरा हुआ है। बिजली न आने के कारण कैमरे भी काम नही ंकर रहे है, एैसे में स्टोर में चोरी हो सकती है। 
पूरे मामले में पीड़ित पक्ष के एडवोकेट देवेन्द्र डंग ने अपने साथी अधिवक्ता अम्बरीश टंडन और मुकुल रावल के साथ ग्लोबस स्टोर की तरफ से कोर्ट में आईपीसी की धारा 156 (3) के तहत एप्लीकेशन लगाई है। जिसमें कोर्ट से गुहार की गई है कि जेड स्क्वायर मैनेजमेंट के खिलाफ पुलिस को एफआईआर दर्ज करने के लिए निर्देशित करे।

Recent News

Related Posts

Follow Us