AIDF ने आर्डिनेंस जैसी कंपनियों को छोड़कर, बढ़ाया निजी कंपनियों के साथ हाथ

AIDF ने आर्डिनेंस जैसी कंपनियों को छोड़कर, बढ़ाया निजी कंपनियों के साथ हाथ

वैसे तो भारत में आज तक रक्षा सम्बन्धी उत्पादों की पूर्ति लगभग - लगभग आर्डिनेंस फैक्ट्री ही करती थी, लेकिन अब AIDF के महासचिव सी. श्रीकुमार ने आर्डिनेंस से निजी कंपनियों के सामान को बेहतर बताया जा रहा है। ऑर्डिनेंस फैक्ट्री का काम अब टीसीएल और जीआईएल के कारखाना करते हैं। केंद्र सरकार ने भी टीसीएल के लगभग सभी उत्पादों को गैर-कोर  बताया है। 

भारत की रक्षा सम्बन्धी सामानों की पूर्ति आज तक लगभग आर्डिनेंस फैक्ट्री ही कर रही है। आर्डिनेंस फैक्ट्री लगभग 28 प्रकार के उत्पाद (कॉम्बेट यूनिफार्म डिजिटल पैटर्न एंटी मिक्रोबॉयल फिनिश, एनआईआर कैमूफ्लॉगिंग, कॉम्बेट डिजिटल पैटर्न लाइटर वर्जन, कोट इसीसी नई वर्जन आदि ) का उत्पादन करती रही है। और इस प्रकार उपाद का आर्डर न मिल पाने के कारण कर्मचारी चिंतित हैं। जिसको देखते हुए अखिल भारतीय रक्षा कर्मचारी महासंघ AIDF ने इस बात पर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखा है। इस प्रकार की संक्रिया में कर्मचारियों ने उत्पादों पर कम लागत लगाकर आरोप लगाने पर, कर्मचारियों को इसका नुक्सान उठाना पड़ सकता है। कर्मचारियों में लगभग 1000 स्त्रियां भी हैं। इसलिए इन कर्मचारियों के लिए इनको पूरा काम वापस दिया जाए, जिससे कारखानों को पूरा वर्क लोड मिल जाये । 
 

Also Read इस टेक्नोलॉजी से भारत और अमेरिका मिलकर करेंगे चीन का मुकाबला

Related Posts

Follow Us