नहीं रहे कुमकुम भाग्य के 'दादाजी'

नहीं रहे कुमकुम भाग्य के 'दादाजी'

अरुण बाली का 79 साल की उम्र में निधन हो गया है, जिसके चलते एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में शोक की लहर देखने को मिल रही है। अपने करियर में उन्होंने कई पॉपुलर टीवी शोज में काम किया था। अरुण बाली फिल्मों के अलावा टीवी सीरियल्स में काम करते थे। 


अरुण बाली का सिक्का, कुमकुम में दादाजी का कैरेक्टर निभाकर हुआ था। एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को लगातार एक के बाद एक झटका लग ही रहा है, क्योंकि आए दिन किसी न किसी दिग्गज कलाकार के निधन की खबर जरूर सामने आ रही है। एक बार फिर से ऐसा ही कुछ हुआ है कि `टीवी सीरियल्स और फिल्मों के पॉपुलर एक्टर रहे अरुण बाली ने 79 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया है। अपने करियर में अरुण बाली ने कई फिल्मों में भी काम किया और सीरियल्स में भी किया। टीवी के कई टॉप सीरियल्स में एक्टिंग कर अरुण बाली ने घर-घर में अपनी एक अलग ही पहचान बना ली है। अरुण बाली देश में निकला होगा चांद, मर्दाया, चाणक्य, आरोहण, फिर वही तलाश, बनेगी अपनी बात, द ग्रेट मराठा, जय हनुमान, उतरन, वो रहने वाली महलों की, महादेव, कैसा ये इश्क है, महाकुंभ, प्यार को हो जाने दो, आम्रपाली, बाबुल की दुआएं लेती जा आदि जैसे बड़े शोज में नजर आ चुके हैं। दिवंगत एक्टर अरुण बाली को सबसे ज्यादा पॉपुलैरिटी स्टार प्लस के टॉप शो में से एक माना जाने वाला कुमकुम में दादाजी की भूमिका निभाकर मिली थी। इस कैरेक्टर के जरिए घर-घर में वो फेमस हो गए थे। कुमकुम में जूही परमार और हुसैन कुवाजरवाला ने अहम भूमिका निभाई थी। अरुण बाली का जन्म पंजाब के जालांधर में हुआ था, लेकिन अपने एक्टिंग करियर के शौक के चलते वो मुंबई शिफ्ट हो गए थे। अपने करियर की शुरुआत अरुण बाली ने 1991 में प्रसारित हुई पीरियड ड्रामा 'चाणक्य' से की थी। उसके बाद उन्हें 'स्वाभिमान' सीरियल में देखा गया, जो उस दौरान दूरदर्शन पर प्रसारित हुआ करता था। अपने करियर में जहां अरुण बाली ने लगभग 40 टीवी शोज में काम किया था, वहीं वो 40 से ज्यादा फिल्मों में भी नजर आ चुके हैं। लंबे समय से अरुण बाली बीमार थे। एक्टर को Myasthenia Gravis नाम की बीमारी ने जकड़ रखा था। ये एक ऐसी बीमारी होती है जो नर्व्स और मसल्स के बीच कम्युनिकेशन फेलियर की वजह से होती है। 

Related Posts

Follow Us