पहली बार हुआ डॉलर के मुकाबले रूपया इतना सस्ता

पहली बार हुआ डॉलर के मुकाबले रूपया इतना सस्ता

 डॉलर के मुकाबले रुपये पहली बार 23 सितंबर 2022 को 81 का लेवल और 20 जुलाई 2022 को 80 का लेवल पार किया था। डॉलर इंडेक्‍स में मजबूती के चलते अन्‍य दूसरी करेंसीज पर दबाव दिखाई दे रहा है। 


भारतीय रुपये में गिरावट रुकने का नाम नहीं ले रही है। आज 7 अक्‍टूबर 2022 को डॉलर के मुकाबले रुपया पहली बार 82 के लेवल को पार कर गया। रुपया 32 पैसे की गिरावट के साथ 82.20/$ के लेवल पर खुला। इससे पिछले सेशन में रुपया 81.88 के लेवल पर था। डॉलर के मुकाबले रुपये पहली बार 23 सितंबर 2022 को 81 का लेवल और 20 जुलाई 2022 को 80 का लेवल पार किया था। डॉलर इंडेक्‍स में मजबूती के चलते अन्‍य दूसरी करेंसीज पर दबाव दिखाई दे रहा है। 

Also Read जलवायु परिवर्तन की ग्लोबल लड़ाई में उत्तर प्रदेश के लोकल हमले की होगी अब वैश्विक चर्चा


अमेरिका में सितंबर के जॉब डेटा आज आने वाले हैं। इससे पहले निवेशक काफी सतर्क हैं. डॉलर इंडेक्‍स 1 फीसदी उछाल के साथ 112.26 के लेवल पर पहुंच गया। इस साल अब तक डॉलर इंडेक्‍स में करीब 17 फीसदी का उछाल आ चुका है। हालांकि, गुरुवार को गोल्‍ड गिरावट के साथ 1711 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड कर रहा था। कमजोर रुपये होने से लगातार महंगाई बाद रही है। डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट का अर्थव्यवस्था पर कई तरह से असर पड़ता है। रुपये में गिरावट से सरकार का इम्‍पोर्ट बिल बढ़ जाएगा। इम्‍पोर्ट की एवज ज्‍यादा डॉलर देने होंगे, जिसका असर करंट अकाउंट डेफिसिट (CAD) पर भी देखने को मिलेगा। इम्‍पोर्ट महंगा होने से कीमतों के दाम बढ़ जाएंगे। खासकर, खाने के तेल की महंगाई बढ़ सकती है। इसके अलावा, क्रूड ऑयल का इम्‍पोर्ट भी महंगा हो सकता है। इसका असर आने वाले समय में घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर पड़ सकता है। 

Recent News

Related Posts

Follow Us