गन्ने के खेत में मिला जीवित नवजात,मानवता हुई शर्मसार

गन्ने के खेत में मिला जीवित नवजात,मानवता हुई शर्मसार

लखीमपुर-खीरी। सम्पूर्णानगर,थाना सम्पूर्णानगर क्षेत्र के एक गांव के समीप गन्ने के खेत में बीती रात एक नवजात जीवित शिशु के मिलने से सनसनी फैल गई। नवजात के रोने की आवाज सुनकर ग्रामीणों ने बच्चा उठाकर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर देखभाल को सौंपा। 

जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गांव रानीनगर निवासी गुड्डू मौर्य के घर के पीछे से रात लगभग 11 बजे किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दे रही थी । आवाज सुनकर गुड्डू ने अपने पड़ोसियों को जानकारी देकर बुलाया उन्होंने जाकर देखा कि गन्ने के खेत में एक नवजात शिशु नग्न अवस्था में पड़ा मिला शरीर पर कोई वस्त्र नहीं था उन्होंने बच्चे को वहाँ उठाकर घर लाया।

Also Read आईआईटी कानपुर में हुई नौकरियों की बरसात

 नवजात को कुछ न हो तुरन्त ही उसे रानीनगर के उप स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया तथा थाना इंचार्ज हनुमन्त तिवारी को घटना से अवगत कराया जिस पर उन्होंने पहले नवजात के जीवन को बचाने की प्राथमिकता पर ध्यान देते हुए केंद्र की महिला चिकित्सक से फोन पर बात की।

 नवजात के लिए कुछ जरूरी स्वस्थ्य सम्बन्धि सामाग्री उपलब्ध न होने के चलते एएनएम मनीषा नवजात को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र विशेनपुरी पर पहुंची जहां रात्रि एक बजे के लगभग केंद्र चिकित्सक डॉ0 सुनील कुमार ने नवजात को जरूरी ट्रीटमेंट दिया, कीड़े मकोड़े के काटने से शरीर में फैले इंफेक्शन को कम करने के लिए जरूरी दवाएं दी जब नवजात खतरे से बाहर आ गया तब सुनील ने उन्हें वापिस भेजा।

 फिलहाल नवजात रानीनगर केंद्र पर एएनएम मनीषा की देख रेख में है। घटना की जानकारी जब शुक्रवार सुबह गाँव में फैली तो उसे देखने ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा। लोग जहां नवजात के प्रति अपनापन प्रकट करते देखे सुने गए तो वहीं इसे जन्म देने वाली कलयुगी माँ बाप को जी भर कोसते नजर आए। फिलहाल नवजात को गोद लेने के लिए कुछ लोग आगे आये हैं। थानाध्यक्ष हनुमन्त लाल तिवारी ने बताया चाइल्ड लाइन की देख रेख में नवजात अभी रानीनगर केंद्र पर ही एएनएम मनीषा के पास इलाज के लिए रखा गया है। दो दिनों बाद चाइल्ड लाइन खीरी द्वारा नवजात को ले जाया जाएगा।

रिपोर्ट- गोविन्द कुमार

 

Related Posts

Follow Us