दो साल बाद भी 40% आबादी ने नहीं लिया कोरोना का सुरक्षाकवच

दो साल बाद भी 40% आबादी ने नहीं लिया कोरोना का सुरक्षाकवच

कोरोना वायरस विश्वमारी (2019–20) की शुरुआत एक नए किस्म के कोरोना वायरस 2019 के संक्रमण के रूप में मध्य चीन के वुहान शहर में 2019 के मध्य दिसंबर में हुई। 20 जनवरी 2020 को चीनी प्रीमियर ली केकियांग ने नावेल कोरोनावायरस के कारण फैलने वाली निमोनिया महामारी को रोकने और नियंत्रित करने के लिए निर्णायक और प्रभावी प्रयास करने का आग्रह किया।


20 मार्च 2020 तक थाईलैंड, दक्षिण कोरिया, जापान, ताइवान, मकाऊ, हांगकांग, संयुक्त राज्य अमेरिका, सिंगापुर, वियतनाम, भारत, ईरान, इराक, इटली, कतर, दुबई, कुवैत और अन्य 160 देशों में पुष्टि के मामले सामने आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को कोरोना वायरस की महामारी को नया नाम कोविड-19 दिया। कोविड-19 से अब तक दुनिया में लगभग 16.4 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि लगभग 50,34,000 लोगों की मौत हो चुकी है। 8 दिसंबर 2020 को, मार्गरेट कीनन नामक एक 90 वर्षीय उत्तरी आयरिश महिला पहली महिला बनी, जिसे ट्रायल के बाहर एक टीका लगाया गया, जिसे यूनिवर्सिटी अस्पताल कोवेंट्री में टीका लगाया गया था। अब तक राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 218.93 करोड़ से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं।  अब तक पहली खुराक 10415252 लोगो को लगायी जा चुकी है जबकि अब तक दूसरी खुराक 10119360 लगायी जा चुकी है और तीसरे मेन प्रीकॉशन खुराक 7040031 लोगों को लगायी जा चुकी है। 12-14 आयु वर्ग के लिए कोविड-19 टीकाकरण 16 मार्च, 2022 को प्रारंभ हुआ था। अब तक 4.10 करोड़ 4,10,64,468 से अधिक किशोरों को कोविड-19 टीके की पहली खुराक लगाई गई है। समान रुप से 18-59 आयु वर्ग के लिये प्रीकॉशन खुराक भी 10 अप्रैल, 2022 को प्रारंभ की गई थी। अभी तक कुल 21,54,17,520 लोगो की कोविड वैक्सीन लगा दी गयी है। बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,797 नए मामले सामने आएं और पिछले 24 घंटों में कुल 2,66,839 जांच की गई हैं। भारत ने अब तक कुल 89.67 करोड़ से अधिक (89,67,48,226) जांच की गई हैं। देश में साप्ताहिक पुष्टि वाले मामलों की दर 1.30 प्रतिशत है और दैनिक रूप से पुष्टि वाले मामलों की दर 1.05 प्रतिशत है।

Also Read DRDO ने 'मानवरहित तपस विमान' का किया सफल परीक्षण

 

Recent News

Related Posts

Follow Us