शुक्र अस्त से नहीं पड़ेगा करवा चौथ व्रत पर कोई प्रभाव , नव विवाहित महिलाएं भी रख सकती हैं व्रत

शुक्र अस्त से नहीं पड़ेगा करवा चौथ व्रत पर कोई प्रभाव , नव विवाहित महिलाएं भी रख सकती हैं व्रत

करवा चौथ का व्रत हर साल कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन होता है। इस बार को तिथि 13 अक्टूबर दिन गुरुवार को पड़ रही है। लेकिन करवा चौथ की व्रत को लेकर इस समय एक चर्चा तेजी से चल रही है कि नवविवाहित स्त्रियां इस साल करवा चौथ का व्रत नहीं रख सकती। यह तत्थ जब प्रकाश में आया तो हमारी टीम ने कई कर्मकांडी पंडितों से इस बारे में जानकारी इकट्ठा की तो पता चला कि करवा चौथ को लेकर जिस शुक्र अस्त को लेकर चर्चाएं फैलाई जा रही है वह बिल्कुल निराधार हैं। और ऐसा कहीं कुछ नहीं है।

व्रत पर प्रभाव नहीं करेगा शुक्र अस्त

ग्रह गोचर के अनुसार शुक्र ग्रह 2 अक्टूबर से चल रहा है। शास्त्रों के अनुसार शुक्र अस्त होने पर किसी भी तरह के शुभ और मांगलिक कार्य करने की मनाही होती है। 20 नवंबर तक शुक्र अस्त रहेगा। ऐसे में किसी तरह का मुंडन-छेदन, ग्रह प्रवेश, विवाह आदि कार्य की मनाही होती है। जबकि शुक्र अस्त होने से करवा चौथ व्रत पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। इस साल से करवा चौथ व्रत का शुरुआत करने वाली है। वह भी इस साल से ही व्रत का आरंभ कर सकती हैं। क्योंकि शुक्र के अस्त होने से व्रत न करने की बात निराधार है। इसलिए नवविवाहित महिलाएं बिना किसी संकोच के इस व्रत को रख सकती हैं।


शुक्र अस्त होने पर नहीं कर सकते हैं यह कार्य

शास्त्रों के अनुसार, जब शुक्र अस्त होता है, तो इसका असर सभी प्रकार के मांगलिक और शुभ कार्यों में पड़ता है। क्योंकि शुक्र की स्थिति के हिसाब से ही कई मुहूर्त की गणना की जाती है। लेकिन करवा चौथ चंद्रमा से संबंधित है इसलिए शुक्र के अस्त होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

डिसक्लेमर

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Recent News

Related Posts

Follow Us