जानिए, देश भर में कैसे मनाया गया पुलिस स्मृति दिवस

जानिए, देश भर में कैसे मनाया गया पुलिस स्मृति दिवस

देश की आंतरिक सुरक्षा में सकारात्मक बदलाव आ गया है क्योंकि पूर्वोत्तर, कश्मीर और वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में बड़ी घटनाएं होती थीं। पहले सशस्त्र बलों को विशेष अधिकार दिए जाते थे। अब युवाओं को उनकी प्रगति के लिए विशेष अधिकार दिए जाते हैं।


देश में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार को राष्ट्रीय पुलिस स्मारक पहुंचे और पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर उन्होंने ड्यूटी पर जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान शाह ने कहा, मातृभूमि की रक्षा के लिए जान गंवाने वाले पुलिस के जवानों का बलिदान कभी भुलाया नहीं जा सकता है। आज हमारा देश हर दिशा में प्रगति करता हुआ दिखाई दे रहा है। देशभर की पुलिस फोर्स और CRPF के 35,000 से ज्यादा जवानों ने देश की आंतरिक सुरक्षा और देश की सीमाओं की रक्षा करने के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है। 21 अक्टूबर, 1959 को लद्दाख के हॉट स्प्रिंग्स में चीनी सैनिकों द्वारा मारे गए सीआरपीएफ के दस जवानों की याद में हर साल पुलिस स्मरणोत्सव दिवस' मनाया जाता है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 अक्टूबर, 2018 को पुलिस स्मृति दिवस पर राष्ट्रीय पुलिस स्मारक राष्ट्र को समर्पित किया था।

Recent News

Related Posts

Follow Us