जानिए, क्यों शिवराज पाटिल ने गीता को जिहाद कहा

जानिए, क्यों शिवराज पाटिल ने गीता को जिहाद कहा

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री शिवराज पाटिल ने 20 अक्टूबर 2022 को दिए अपने बयान पर सफाई दी है। क्या आप कृष्ण द्वारा अर्जुन की दी गई सीख को जिहाद बोलेंगे। 


पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री और कांग्रेस नेता शिवराज पाटिल ने गुरुवार को दिल्ली में दिए अपने विवादित बयान के बाद सफाई दी है। उन्होंने कहा कि अगर आप महात्मा गांधी की हत्या करते हैं  तो यह जिहाद है। उनकी हत्या करना जिहाद है। क्या आप कृष्ण द्वारा अर्जुन की दी गई सीख को जिहाद बोलेंगे। 

Also Read एक तरफा प्यार के चक्कर में छात्रा परेशान , प्रेमी भतीजे ने किया सुसाइड परेशान परिजन


उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों से कहा, ''इस्लाम, ईसाई धर्म में मान्यता है कि भगवान बहुत नहीं हैं, सिर्फ एक है। यहूदी धर्म में भी यही मान्यता है कि भगवान की मूर्ति नहीं रख सकते। गीता में भी लिखा है कि भगवान का ना रंग है, ना रूप है और ना ही आकार है।'' पर भारत में हिन्दू धर्म के 33 कोटि देवताओं को मनाया जाता है।
 

पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री और कांग्रेस नेता शिवराज पाटिल के  बयान से पूरा भारत बौखला गया है। देश में हिन्दू, मुस्लिम और इसाई में जब अंतर नहीं है तो धर्म के नाम पर अपने बयान पर लोंगो को गुमरह क्यों कर रहे है।  

Recent News

Related Posts

Follow Us