करोड़ों का घोटाला : जिला लेखा परीक्षा समिति के सालाना ऑडिट के दौरान हुआ इतने बड़े घोटाले का पर्दाफाश

हलधरमऊ विकास क्षेत्र के ग्राम पंचायत बटौरा लोहाँगी समेत 35 ग्राम पंचायतो में पकड़ा गया 5 करोड़ से अधिक की घोटाले का हुआ भंडाफोड़, जाने कैसे निकाल ली गई इतनी मोटी रकम ।

करोड़ों का घोटाला : जिला लेखा परीक्षा समिति के सालाना ऑडिट के दौरान हुआ इतने बड़े घोटाले का पर्दाफाश

गोंडा। हलधरमऊ विकास क्षेत्र में साढ़े पांच करोड़ रुपए के घोटाले का भंडाफोड़ हो गया है। 35 ग्रामपंचायतों ने बिना कागजात के ही करोड़ों की धनराशि डकार लिया गया। डीपीआरओ के तत्कालीन प्रधानों व सचिवों के विरुद्ध नोटिस जारी करने से हड़कंप मच गया है।

जिला लेखा परीक्षा समिति की ऑडिट के दौरान हलधरमऊ विकास क्षेत्र की 35 ग्रामपंचायतों में 5.57 करोड़ के घोटाले का पर्दाफाश हो गया। डीपीआरओ ने तत्कालीन ग्रामप्रधानों व सचिवों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। पंचायतीराज विभाग गांवों में विकास कार्य कराने के लिए राज्य वित्त व केन्द्रीय वित्त आयोग की मंजूरी पर धनराशि मुहैया करवाता रहा है। ग्रामपंचायतों को आवंटित धनराशि कागजी कार्यवाही पूरी करने के बाद विकास कार्यों पर व्यय करके विभाग को उपभोग प्रमाणपत्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये है। सरकार पंचायतों को मुहैया कराए गये बजट व खर्चे की ऑनलाइन ऑडिट जिला लेखा परीक्षा समिति से प्रत्येक वर्ष कराता रहा है।

Also Read मैनपुरी की जीत ने घोली रिश्तो में मिठास......

वित्तीय वर्ष 2019-20 में विकास कार्य कराने के लिए ग्रामपंचायतों को इन योजनाओं के तहत बजट मुहैया कराया गया था। जिला लेखा परीक्षा समिति ने विकासखण्डवार ग्रामपंचायतों के खर्चे की ऑडिट की है। जिला पंचायत राज अधिकारी लालजी दूबे संबंधित प्रधानों व सचिवों से स्पष्टीकरण मांग लिया है।

अमरनाथ,पुनीता वर्मा,अजय कुमार, परमात्मादीन,निर्मला देवी, जनकनंदनी,मीरा सेन, शिवपूजन गोस्वामी, सुनीता, राम उदित, संतोषी, पारितोष मिश्रा, सीतापति, रुकैया बेगम, अनीशा बानो,दुर्गा प्रसाद, कबूतरा, श्रीमती, शंकर शरण शुक्ला, रजिया, विनोद कुमार, शीला देवी, राम कुमार मिश्रा, आयशा, फूलकुमारी,रामदेव, सुरेश चन्द्र, अनवरजहां,राजेन्द्र सिंह, लखन, रामपाल, सरोज कुमारी, नजमा, विपिन कुमार, कुसमा समेत करीब तीन दर्जन ग्रामप्रधानों के नाम शामिल है।

प्रेमा देवी, नीतीश श्रीवास्तव, सौरभ राय, पुष्पराज सिंह, अरुण कुमार सिंह, अनिल कुमार सिंह, अजय कुमार पाण्डेय,पप्पू सिंह यादव, दीपक कुमार श्रीवास्तव, उमेश चन्द्र द्विवेदी, राजकुमार, रोशनलाल समेत दर्जनभर से अधिक सचिवों का नाम इसमें शामिल है।

बटौरा लोहांगी में 6.17 लाख, बरवालिया कुर्मी में 4.37लाख, वमडेरा में 6.25 लाख,बालपुर हजारी 14.47 लाख,असरना 11.91 लाख,सोनवार 3.78 लाख,रेवारी में 10.77 लाख,परसागोंडरी 9.79 लाख, गोनवा 9.44 लाख, सेल्हरी 25.97 लाख,रामगढ़ 1.03 लाख,राजपुर 3.34 लाख, पिपरी रावत 6.64 लाख,पड़रिया 4.72 लाख, निन्दूरा 12.59 लाख, नहवा परसौरा 8.14 लाख,मलौना 7.84 लाख, मैजापुर 2.08 लाख, कुंवरपुर अमरहा 6.83 लाख, कौंड़हा जगदीशपुर 12.17 लाख, झौहना 8.67 लाख, बटौरा बख्तावर सिंह 6.99 लाख,हरसिंहपुर 4.69 लाख,हड़ियागाड़ा 6.42 लाख, भैरमपुर 14.48 लाख, गुरसड़ा 3.79 लाख, बसालतपुर 2.70 लाख,बरबटपुर 7.05 लाख,डुंडही 6.87 लाख,देवी तिलमहा 4.11 लाख, चौरी 5.53 लाख, चकसेनिया 4.70 लाख,भोंका 6.71 लाख,भटनैया 4.77 लाख, गौरवाखुर्द 13.49 लाख समेत करीब तीन दर्जन ग्रामपंचायतों में अनियमित धनराशि निकाली गई।

 

रिपोर्ट राहुल तिवारी

 

 

Recent News

Related Posts

Follow Us