इकलौते पुत्र का शव पहुंचते ही घरों में मचा कोहराम

इकलौते पुत्र का शव पहुंचते ही घरों में मचा कोहराम

सुपौल: त्रिवेणीगंज नगर परिषद क्षेत्र के पतरघट्टी निवासी छड़ सीमेंट व्यवसाई शिव शंकर साह के इकलौते 22 वर्षीय पुत्र की बुधवार की रात्रि सड़क दुर्घटना में मौत हो गई मौत की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों के अनुसार व्यवसाई शिव शंकर साह का इकलौता पुत्र 22 वर्षीय हिमांशु कुमार चंदन जो त्रिवेणीगंज स्थित अनूप लाल महाविद्यालय में बीए पार्ट टु का छात्र था एवं पटना में रहकर पढ़ाई करता था। वह बुधवार की रात्रि त्रिवेणीगंज से पटना जाने के लिए देव ट्रैवल्स बस में स्लीपर सीट पर सवार होकर पटना जा रहा था उसी दौरान मधुबनी जिले के सकड़ी गांव के सभी पीछे से आ रही तेज रफ्तार ट्रक ने उक्त बस में जोरदार टक्कर मार दिया टक्कर लगने के क्रम में बस पर स्लीपर में सफर कर रहे हिमांशु कुमार चंदन स्लीपर से बाहर सड़क पर गिर गया उसी क्रम में टक्कर मारने वाला ट्रक उसे सड़क पर कुचलते निकल गया। जिससे हिमांशु कुमार चंदन का मौत घटनास्थल पर ही हो गया हिमांशु की मौत की खबर पाकर परिजनों में कोहराम मचा है। रोने बिलखने करूण क्रन्द से माहौल गमगीन बना है। मृतक हिमांशु के 70 वर्षीय दादा तेज नारायण साह अपने पोते के खोने के गम में दरवाजे पर गमगीन बैठे थे। जहां ग्रामीण समेत शुभचिंतक पास में बैठ कर उनको ढाढंस बांधने का प्रयास कर रहे थे। वही दादी जोहानी देवी बेसुध बन बैठी थी पिता शिव शंकर साह एवं माता ममता देवी के अपने इकलौते पुत्र के खोने के गम में अपने आंखों के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहा था। उन्हें भी ढाढंस बांधने का प्रयास किया जा रहा था वहीं मृतक हिमांशु का बहन रूबी कुमारी एवं दीक्षा कुमारी का रो रो कर बुरा हाल बना है रोते बिलखते दोनों बहने कह रही थी की हमर भाय कतैय चैल गेले हो अब हम केकरा राखी बांधवे हो यह सुनकर ग्रामीण महिला एवं शुभचिंतक भी अपने आंखों के आंसू को नहीं रोक पाए। सभी लोगों का आंखें नम्न था। हिमांशु का शव आज गुरुवार को करीब 11:00 दिन में घर पहुंचा जिसे देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ा। और हिमांशु का शव अंतिम संस्कार कर दिया गया।

रिपोर्ट: संतोष कुमार सुपौल।

Also Read गोंडा समेत 48 जनपदो के निकायों वार्डों का आरक्षण जारी, देखे सूची

Related Posts

Follow Us