सुपौल समाहरणालय स्थित भवन में फसल कटनी का एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया

सुपौल समाहरणालय स्थित भवन में फसल कटनी का एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया

सुपौल आज रोज सोमवार को समाहरणालय स्थित सभागार भवन सुपौल में बिहार राज्य फसल सहायता योजनान्तर्गत अर्थ एवं सांख्यिकी निदेशालय बिहार पटना के निदेशानुसार फसल कटनी प्रयोग से संबंधित एक दिवसीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला का आयोजन श्री विधु भूषण चौधरी अपर समाहर्ता सुपौल की उपस्थिति में किया गया। जिला सांख्यिकी पदाधिकारी जिला कृषि पदाधिकारी अवर सांख्यिकी पदाधिकारी सभी प्रखण्ड के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी अंचलाधिकारी प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी प्रखण्ड सांख्यिकी पदाधिकारी अंचल निरीक्षक एवं जिला सांख्यिकी कार्यालय के सभी पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे। जिला सांख्यिकी पदाधिकारी के द्वारा तकनिकी जानकारी के साथ प्रशिक्षण के दौराण फसल कटनी प्रयोग के उद्धेश्य एवं महत्व पर प्रकाश डाला गया। वर्त्तमान समय में प्रत्येक पंचायत में गेहूं, मकई एवं धान का पाँच-पाँच प्रयोग किया जाता है। जिसका प्रयोगात्मक खण्ड 10X5 वर्ग मीटर के आयताकार में किया जाता है। इस प्रयोग को मोबाईल ऐप के माध्यम से सम्पादित करते हुए डाटा को अपलोड किया जाता है। तथा जिला स्तर पर प्राप्त आँकड़ों के जाँचोपरान्त अर्थ एवं सांख्यिकी निदेशालय, बिहार, पटना को भेजा जाता है। इस आँकड़ों के आधार पर राज्य स्तर से फसल सहायता योजना के लाभ हेतु पंचायत प्रखण्ड जिला स्तर के लिए उपज दर का आकलन किया जाता है। पुनः इन्हीं आँकड़ों के आधार पर भारत सरकार द्वारा खाद्य निति तैयार की जाती है। जिसके फलस्वरूप विभिन्न फसलों के उपज का आकलन कर खाद्यानों के संबंध में आयात निर्यात संबंधी निर्णय लिये जाते हैं।

रिपोर्ट: संतोष कुमार सुपौल।

Also Read सुप्रीम कोर्ट के ऑनलाइन पोर्टल से सूचना पाना होगा आसान 

Recent News

Related Posts

Follow Us