52 हफ़्तों में 52 स्थानों को सुरक्षा प्रदान करेगा गोदरेज लॉक्स

52 हफ़्तों में 52 स्थानों को सुरक्षा प्रदान करेगा गोदरेज लॉक्स

मुंबई : विश्वास, गुणवत्ता और सुरक्षा का पर्याय बन चुके ब्रांड, गोदरेज लॉक्स ने 15 नवंबर को होम सेफ्टी डे मनाया। इस दिन हर वर्ष यह दिवस मनाया जाता है। इस दिवस के उपलक्ष्य में, गोदरेज लॉक्स ने इस साल के अभियान #GoLiveFreely के अनुरूप ‘लीव सेफ, लीव फ्री' प्रोग्राम की घोषणा की। उक्त अभियान के अंतर्गत ब्रांड द्वारा 10 सबसे असुरक्षित शहरों में 52 सप्ताह में 52 स्थानों पर घर की सुरक्षा हेतु जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। गोदरेज ने नागरिकों को उनके घर की सुरक्षा के प्रति सचेत करने और डकैती एवं चोरी/सेंधमारी के खतरों से सुरक्षित रहने के लिए इस मुहिम को शुरू किया है। 

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के अनुसार, वर्ष 2021 में, 2020 की तुलना में आवासीय परिसरों के भीतर चोरी, डकैती और सेंधमारी के मामलों में लगभग 17% की वृद्धि दर्ज की गई। इसी तरह के संदर्भ में, यह ब्रांड भारत के शीर्ष दस असुरक्षित शहरों, दिल्ली, मुंबई, भुवनेश्वर, जयपुर, लखनऊ, बैंगलोर, चंडीगढ़, भोपाल, अहमदाबाद और पटना में 52 स्थानों की पहचान करेगा। इस पहल के साथ, गोदरेज लॉक्स लोगों के साथ जुड़कर और उन्हें सुरक्षा समाधानों तक सीधी पहुंच प्रदान करके घर की सुरक्षा को लेकर अपनी स्थिति को मजबूत करने का इरादा रखता है।

गोदरेज लॉक्स के बिजनेस हेड, श्याम मोटवानी ने कहा, “इस होम सेफ्टी डे पर, हमें ‘लीव सेफ, लीव फ्री' पहल की घोषणा करते हुए प्रसन्नता हो रही है। इस पहल का उद्देश्य डकैती के अत्यधिक मामले दर्ज किए जाने वाले 52 इलाकों की पहचान करके पूरे भारत में सुरक्षा चिंताओं को दूर करना है। सुरक्षा के पर्याय बन चुके एक लीगेसी ब्रांड के रूप में, गोदरेज लॉक्स इन इलाकों के निवासियों के लिए निःशुल्क होम सेफ्टी असेसमेंट (घर सुरक्षा आकलन) आयोजित करेगा और उनके घरों की सुरक्षा की शक्ति मापेगा। यह अनूठी पेशकश नागरिकों को सुरक्षा मानकों को मापने और घर की सुरक्षा में किसी भी खामी को दूर करने के लिए एहतियाती उपाय करने में सहायता देगी। इस पहल का उद्देश्य उन प्रमुख क्षेत्रों तक पहुंचना है जहां घर की सुरक्षा बेहतर करने और इसके बारे में जागरूकता पैदा करने की वास्तविक आवश्यकता है। इसलिए, हमारी प्रतिबद्धता 52 सप्ताह की समय सीमा के भीतर इन क्षेत्रों की सुरक्षा करना है।"

उन्होंने आगे बताया, "घरों की लूट और सेंधमारी आम जनता के लिए गंभीर चिंता का विषय बनी हुई है। एनसीआरबी के अनुसार, 2020 से डकैतियों की दर में 17% की चिंताजनक वृद्धि हुई है। घर की सुरक्षा से जुड़े एक जिम्मेदार और विश्वसनीय ब्रांड के रूप में, हमने ‘हर घर सुरक्षित' के बैनर तले जागरूकता पैदा करके प्रत्येक भारतीय को उनके घर की सुरक्षा के प्रति जागरूक करने की जिम्मेदारी उठाई है, और हम भविष्य में भी ऐसा करना जारी रखेंगे।"
     

-अनिल बेदाग

Recent News

Related Posts

Follow Us