सुपौल सांसद की अध्यक्षता में जिला समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) का की गई समीक्षात्मक बैठक

सुपौल सांसद की अध्यक्षता में जिला समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) का की गई समीक्षात्मक बैठक

सुपौल :आज रोज शुक्रवार की दिन में समाहरणालय स्थित सभागार भवन सुपौल में माननीय सांसद सुपौल श्री दिलेश्वर कामैत की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की समीक्षात्मक बैठक की गई। बैठक में माननीय विधायक श्री अनुरूद्ध प्रसाद यादव, श्री रामविलाश कामत, जिला परिषद् की अध्यक्षा, प्रखंडों के प्रमुख एवं मनोनित जन प्रतिनिधिगण उपस्थित थे। उक्त बैठक में जिलाधिकारी, सुपौल, पुलिस अधीक्षक, सुपौल, उप विकास आयुक्त, सुपौल, अपर समाहर्ता, सुपौल, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, सुपौल जिला, जिला कृषि पदाधिकारी, सिविल सर्जन, सुपौल एवं संबंधित विभाग के सभी पदाधिकारीगण उपस्थित थे। उक्त बैठक में माननीय सांसद द्वारा मुख्य रूप से केन्द्र प्रायोजित योजनाओं की समीक्षा की गई समीक्षा से पूर्व पूर्व की बैठक की कार्यवाही की अनुपालन की भी समीक्षा की गई समीक्षा के क्रम में अनुपालन प्रतिवेदन में उठाये गये बिन्दुओं पर माननीय सांसद द्वारा निर्धारित समय सीमा के
अन्दर वैसे सभी लंबित कार्यों को पूर्ण करवाने का निदेश दिया गया। बैठक में माननीय सांसद द्वारा केन्द्र प्रायोजित योजना यथा मनरेगा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण जीविका शिक्षा स्वास्थ्य ग्रामीण कार्य विभाग स्वच्छता आई सी डी एस सामाजिक सुरक्षा कल्याण भू-अर्जन पी एच ई डी नियोजन कार्यालय एवं राजस्व आदि से संबंधित योजनाओं की अद्यतन प्रगति की बिन्दुवार समीक्षा की गई समीक्षा के क्रम में माननीय सांसद द्वारा उपरोक्त योजना कार्यक्रम को ससमय पूर्ण कराये जाने हेतु सभी संबंधित पदाधिकारी को निदेशित किया गया। साथ ही माननीय सांसद द्वारा सभी संबंधित पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि आपके विभाग से संबंधित योजनाओं एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के संबंध में संबंधित क्षेत्र के स्थानीय जनप्रतिनिधि को भी उसकी जानकारी दी जाय ताकि कार्य गुणवत्तायुक्त हो सके। बैठक में जिलाधिकारी, सुपौल द्वारा माननीय सांसद को लंबित कार्यों के संबंध आश्वस्त किया गया कि निर्धारित समय सीमा के अन्दर कार्य को पूर्ण करवा लिया जाएगा। साथ ही समय-समय पर जिला स्तरीय टीम गठित कर योजनाओं की जाँच करवाये जाने के संबंध में भी जानकारी दी गयी। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी द्वारा यह भी जानकारी दी गयी कि जाँच के क्रम में त्रुटि  अनयमितता पाये जाने की स्थिति में दोषियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बैठक में उपस्थित प्रतिनिधियों द्वारा क्षेत्र की समस्या को रखा गया। जिस पर जिलाधिकारी सुपौल द्वारा आश्वस्त किया गया कि सभी बिन्दुओं पर संबंधित विभाग के पदाधिकारी से बात कर समाधान करवा लिया जाएगा।

रिपोर्ट: संतोष कुमार सुपौल।

Also Read निजी क्लीनिक में प्रसव के दौरान डॉक्टर की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत, परिजनो ने किया एन-एच को जाम

Related Posts

Follow Us