Delhi-NCR की आबोहवा सुधारने के लिए लागू किया गया जीआरपी फेस 1 और 2

Delhi-NCR की आबोहवा सुधारने के लिए लागू किया गया जीआरपी फेस 1 और 2

ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (जीआरएपी) के तहत कार्रवाई करने वाली उप-समिति ने पूरे एनसीआर में जीआरएपी के पहले चरण के साथ-साथ दूसरे चरण के तहत की गई कार्रवाइयों की प्रगति की समीक्षा करने के लिए आज एक बैठक की।

गतिशील मॉडल और आईएमडी/आईआईटीएम द्वारा प्रदान किए गए मौसम/मौसम संबंधी पूर्वानुमान के अनुसार, अगले कुछ दिनों में वायु गुणवत्ता में 'खराब' से 'बहुत खराब' श्रेणी के निचले स्तर के बीच बड़े पैमाने पर उतार-चढ़ाव होने की संभावना है। दिल्ली में प्रमुख सतही हवा के उत्तर/उत्तर-पश्चिम दिशा से आने का अनुमान है।

दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) आज शाम 4 बजे सीपीसीबी बुलेटिन के अनुसार 289 दर्ज किया गया। आईएमडी/आईआईटीएम के पूर्वानुमानों के अनुसार दिल्ली की समग्र वायु गुणवत्ता में मामूली गिरावट के बावजूद आने वाले दिनों में वायु गुणवत्ता में किसी बड़ी गिरावट की भविष्यवाणी नहीं की गई है। उप-समिति ने वायु गुणवत्ता परिदृश्य और प्रासंगिक पहलुओं की व्यापक समीक्षा करने के बाद यह निर्णय लिया है कि जीआरएपी के पहले से लागू चरण I  के साथ-साथ चरण II के तहत कार्रवाई जारी रहेगी और मौजूदा स्तर पर जीआरएपीके चरण III  को लागू करने की जरूरत नहीं लगती है। आयोग की जीआरएपी उप-समिति स्थिति पर बारीकी से नजर रख रही है और तदनुसार वायु गुणवत्ता परिदृश्य की समीक्षा करेगी।

Recent News

Related Posts

Follow Us