बंग-भंग से केंद्र का इंकार, राज्य में तनाव के आसार

बंग-भंग से केंद्र का इंकार, राज्य में तनाव के आसार

बंगाल में राज्य विभाजन की मांग करने की बात सामने आयी है। इस मामले में बंगाल BJP के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष ने साफ कर दिया है कि पार्टी इस तरह की मांग का समर्थन नहीं करेगी। 

भाजपा विधायकों ने रखी मांग

Also Read आखिरकार नहीं पहुंचे थाने ब्रम्हानंद नेताम


पश्चिम बंगाल राज्य के विभाजन की मांग भाजपा के ही विधायक ओंदा अमरनाथ सखा ने की है। सखा ने बंगाल की पश्चिमी सीमा के 5 जिलों  पुरुलिया, बांकुरा, झारग्राम, पश्चिमी मिदनापोर और बीरभूम पर राज्य सरकार की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि इन पांचों में जिलों के लोग विकास की मुख्यधारा में शामिल नहीं हो पाये है। 

 

ओंदा अमरनाथ सखा ने इन सभी जिलों के लोंगो से साथ में मिलकर मांग उठाने के लिए कहा है जिससे मांग को मजबूती मिल सके। ओंदा अमरनाथ सखा ने कहा की यदि इन जिलों में पंचायत चुनावों में पार्टी का परिणाम अच्छा रहा तो केंद्रीय गृह मंत्री के सामने इस मांग को रखा जायेगा। इससे पहले BJP सांसद सौमित्र खान की तरफ से भी मांग उठायी गयी थी। ऐसे ही कई BJP नेताओं की तरफ से अलग राज्य बनाने की मांग उठायी जा रही है। हालांकि भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने ऐसी किसी भी मांग के समर्थन से इंकार किया है। 

Recent News

Related Posts

Follow Us