सुप्रीम कोर्ट ने 'गे-कपल समलैंगिंग विवाह' पर केंद्र को दिया नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने 'गे-कपल समलैंगिंग विवाह' पर केंद्र को दिया नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को एक नोटिस जारी किया है। इस नोटिस में, सुप्रीम कोर्ट ने गे-कपल की याचिका पर केंद्र सरकार को गे-कपल के विवाह (समलैंगिंग विवाह) को स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत लाने के लिए नोटिस दिया है। सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को समलैंगिंग विवाह को कानूनी मान्यता देने की याचिका दायर की गयी है। इस याचिका में समलैंगिंग विवाह को विशेष विवाह अधिनियम के अन्तर्गत लाने की मांग की गयी है। 


सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस चंद्रचूड़ की अध्‍यक्षता वाली बेंच ने आज मामले की सुनवायी की। सुप्रीम कोर्ट की इस बेंच ने संकेत दिया कि केरल समेत अलग-अलग हाई कोर्ट में लंबित याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर कर एक साथ सुना जाएगा। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच ने इस मामले की सुनवाई की और सीनियर एडवोकेट मुकुल रोहतगी के ब्‍यौरे को विस्‍तृत सुना और उसके बाद सभी याचिकाओं को नोटिस जारी किया। 


हैदराबाद में रहने वाले दो जोड़े समलैंगिंग दंपत्ति सुप्रियो चक्रवर्ती-अभय दांग और पार्थ फिरोज महरोत्रा-उदय राज ने समलैंगिक समुदाय के अधिकारों के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। इस याचिका पर निवारण करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को गे-कपल के विवाह (समलैंगिंग विवाह) को एक स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत लाने के नोटिस जारी किया है। 

Related Posts

Follow Us