Kanpur Metro Update : टीबीएम 'नाना' ने पार किया मील का पत्थर

Kanpur Metro Update : टीबीएम 'नाना' ने पार किया मील का पत्थर

कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के पहले कॉरिडोर के अंतर्गत चुन्नीगंज -नयागंज भूमिगत सेक्शन में कल 6 दिसंबर, 2022 को ‘नाना‘ टनल बोरिंग मशीन टनलिंग ब्रेकथ्रू के लिए पूर्ण रूप से तैयार हैं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश मेट्रो और कानपुर के लिए एक और मील का पत्थर हासिल करते हुए नाना टीबीएम बड़ा चौराहा से नयागंज के बीच डाउनलाइन पर 1025 मीटर की दूरी पूरी कर लेंगे। 

एलआईसी बिल्डिंग, फूलबाग के निकट कानपुर मेट्रो स्टेशन के निर्माण स्थल पर नाना टीबीएम अपने भूमिगत सुरंग निर्माण का पहला पड़ाव पूरा करते हुए ब्रेकथ्रू करेंगे। शहर के सबसे सघन आबादी वाले क्षेत्रों में से एक के नीचे से गुजरते हुए, जहां कई पुरानी इमारतें भी थीं इस मशीन ने चुनौतीपूर्ण कार्य को पूरी सुरक्षा के साथ पूरा किया। 4 जुलाई को बड़ा चौराहा से आरंभ होकर अभी तक नाना टीबीएम ने डाउनलाइन में 733 रिंग्स लगाए हैं। नयागंज स्थित रिट्रिवल शाफ़्ट में टीबीएम के पहुंचने के बाद 6 और रिंग्स लगाए जाएंगे। इस तरह से बड़ा चौराहा से नयागंज के बीच डाउनलाइन पर भूमिगत टनलिंग का कार्य पूरा हो जाएगा। 

विदित हो कि लगभग 4 किमी लंबे चुन्नीगंज-नयागंज भूमिगत सेक्शन में वर्तमान में बड़ा चौराहा से नयागंज के बीच टनलिंग का कार्य किया जा रहा है। डाउनलाइन के बराबर ही अपलाइन पर ‘तात्या‘ टीबीएम तेजी से टनल निर्माण करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। नयागंज स्थित रिट्रिवल शॅाफ़्ट में पहुंचने के बाद दोनों टीबीएम बाहर लाए जाएंगे व इन्हें पुनः चुन्नीगंज स्थित लॉन्चिंग शॅाफ़्ट में पहुंचाया जाएगा। यहां से ये टीबीएम टनल बनाते हुए नवीन मार्केट होकर वापस बड़ा चौराहा तक पहुंचेंगे।

इस अवसर पर अपनी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशल लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री सुशील कुमार ने कहा कि, ‘‘शहर में बड़े पैमाने पर तेजी से बुनियादी ढ़ाचा के निर्माण की दिशा में  हमने यह बड़ी उपलब्धि प्राप्त की है। टीबीएम ‘नाना‘ और ‘तात्या‘ कानपुर में विश्व स्तरीय मेट्रो प्रणाली के सपने को पूरा करने में हमारा नेतृत्व कर रहे हैं। चुन्नीगंज और नयागंज के बीच का मार्ग शहर के सबसे व्यस्त मार्गों में से एक है। इन अत्याधुनिक टीबीएम की मदद से हम सड़कों पर यातायात को प्रभावित किए बिना पूरी सुरक्षा के साथ शहर के मध्य से गुजरते हुए भूमिगत सुरंगों का निर्माण करने में सक्षम हुए हैं। यह मेरा दृढ़ विश्वास है कि हमारी टीम अपने समर्पण के साथ भविष्य में भी इसी तरह निर्धारित समय में निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में सफल होगी।”

Recent News

Related Posts

Follow Us