बृजभूषण शरण सिंह ने कोर्ट जाने के किया खंडन, कहा पहलवानों के खिलाफ नहीं दायर की गई कोई याचिका

बृजभूषण शरण सिंह ने कोर्ट जाने के किया खंडन, कहा पहलवानों के खिलाफ नहीं दायर की गई कोई याचिका

नई दिल्ली। देश के प्रमुख मीडिया संस्थानों में भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह द्वारा उनके ऊपर यौन शोषण के आरोप लगाने वाले पहलवानों के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर करने की खबर का खुद बृजभूषण शरण सिंह ने ट्वीटर के माध्यम से खंडन किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि मेरे या मुझसे सम्बद्ध किसी अधिकृत व्यक्ति द्वारा दिल्ली सरकार, धरना देने वाले पहलवानों और न्यूज़ चैनलों के विरुद्ध कोई याचिका प्रस्तुत नहीं की गई है। मैंने किसी अधिवक्ता, लॉ एजेंसी या प्रतिनिधि को किसी न्यायालय में याचिका प्रस्तुत करने की अनुमति या अधिकार प्रदान नहीं किया है.  इसके साथ ही उन्होंने मीडिया से भ्रामक खबरें न चलाने की भी आग्रह किया है। 

 

 

 

बृजभूषण शरण सिंह ने ट्वीट कर लोगों से सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक नारे या हैशटैग नहीं यूज न करने का अनुरोध किया है, जो दूसरों के बीच राजनीतिक दलों या समुदायों की गरिमा को नुकसान पहुंचाते हैं। 

विनेश फोगाट के नेतृत्व में पहलवानों ने खोल रखा है मोर्चा

बृजभूषण शरण पर महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न करने और देश के कुछ टॉप पहलवानों द्वारा उन पर तानाशाह की तरह काम करने का आरोप लगाया गया है। उनके खिलाफ अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान विनेश फोगट, बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक और रवि दहिया ने मोर्चा खोल रखा है। खेल मंत्रालय ने शनिवार को कहा था कि उसने डब्ल्यूएफआई से यूपी के गोंडा में होने वाले रैंकिंग टूर्नामेंट सहित तत्काल प्रभाव से चल रही सभी गतिविधियों रोकने को कहा था। इसके साथ ही बृजभूषण के समर्थन में बोलने वाले डब्ल्यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर को मंत्रालय ने निलंबित कर दिया था। 

 

Related Posts

Follow Us