विभाग की मिलीभगत से बगैर काम कराये श्रमिकों के बैंक खाते में मजदूरी का हो रहा भुगतान

विभाग की मिलीभगत से बगैर काम कराये श्रमिकों के बैंक खाते में मजदूरी का हो रहा भुगतान

ग्रामीणों ने अधिकारियों से आनलाईन शिकायत दर्ज कराते हुए विकास कार्यों में धांधली व सरकारी धन के बंदरबांट करने का लगाया आरोप 

कर्नलगंज, गोण्डा। विकास खंड में मनरेगा योजना तमाम लोगों के खाने कमाने का जरिया बन गया है, जहां मास्टर रोल निर्गत करवाकर बिना कार्य कराये ही श्रमिकों के बैंक खाते में मजदूरी का भुगतान करना जिम्मेदार लोगों की आदत में शामिल हो चुका है। लेकिन जिन्हें इसके निगरानी की जिम्मेदारी सौंपी गई है वह सब कुछ जानते हुये भी अपना हिस्सा लेकर चुपचाप तमाशा देख रहे हैं और मूक दर्शक बने हुए हैं। 

ऐसा ही मामला विकास खंड कर्नलगंज में सामने आया है। यहाँ के ग्राम पंचायत पचमरी निवासी मोहम्मद शान ने विकास विभाग में आनलाइन प्रार्थना पत्र दिया है।जिसमें कहा गया है कि ग्राम पंचायत पचमरी में जयचंद के घर से चांदी ताल तक मिट्टी पटाई कार्य कराया जाना दिखाकर 20- 20 श्रमिकों का पंचायत मस्टर रोल निर्गत कराया जा चुका है। जिसमें से कुछ का भुगतान भी कर दिया गया है। ज़बकि मात्र 10 दिवस 5 श्रमिक कार्य किये हैं। 

आरोप है कि 13 से 26 दिसंबर तक 20 श्रमिकों का मस्टर रोल निर्गत कराया गया है। ज़बकि मौके पर एक भी श्रमिक मिट्टी पटाई का कार्य नहीं कर रहे है। इस तरह बिना कार्य कराए ही श्रमिकों के बैंक खाते में फर्जी भुगतान किया जा रहा है। मोहम्मद शान ने जांच करवाकर सरकारी धन की रिकवरी कराते हुए दोषियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराकर कार्रवाई किये जाने की मांग की है। 

प्रधान प्रतिनिधि मोहम्मद शकील उर्फ पप्पू ने बताया कि शिकायतकर्ता के परिवार के लोगों ने मेरे विरुद्ध कोतवाली में तहरीर दिया है उसी मामले में व्यस्त होने कि वजह से दो दिन मिट्टी पटाई कार्य नहीं हुआ है। इस संबंध में संयुक्त खंड विकास अधिकारी श्रीकांत तिवारी व एपीओ अंशुमान त्रिपाठी से दूरभाष पर संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन दोनों लोगों का फोन नहीं उठा।

रिपोर्ट राहुल तिवारी

Recent News

Related Posts

Follow Us