मध्य प्रदेश :: गुलाबी ठंड में प्रदेश की सियासत गर्म

मध्य प्रदेश :: गुलाबी ठंड में प्रदेश की सियासत गर्म

भोपाल (मध्य प्रदेश)। मध्य प्रदेश की सियासत में 3 दिसंबर का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण एवं खास होगा क्योंकि विधानसभा चुनाव 2023 के नतीजों का दिन रहेगा। मौसम की इस अधिक ठंड में सियासी गर्मी रात्रि में बढ़ जाएगी। इसका अनुमान शब ए मालवा में देखने को मिल सकता है। कहते हैं कि मध्य प्रदेश में सदियों से एक कहावत प्रचलित है की शब ए मालवा की सर्दी अपना असर ज़रूर दिखाती है लेकिन मौसम की इस सर्दी में सियासी पारा भी चढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। कि 3 दिसंबर रविवार की अलसुबह से ही सियासत अपना रंग दिखाना शुरू कर देगी। मध्य प्रदेश की सियासत किसी राजनीतिक दल के साथ सवार होगी यह देखना दिलचस्प होगा।

सभी चैनलों पर एवं तमाम एजेंसियों के एग्जिट पोल आ चुके हैं जिनमें सभी पांच राज्यों के एग्जिट पोल भी सम्मिलित हैं। मुख्य रूप से राजस्थान, छत्तीसगढ़ एवं मध्य प्रदेश के एग्जिट पोल पर जनता की नजर भी रही है। सभी एजेंसियों के एग्जिट पोल अलग-अलग राज्यों में चुनावी दलों की सरकार बनाते हुए दिख रहे हैं जिसमें मध्य प्रदेश में तीन एजेंसियां कांग्रेस पार्टी को बहुमत बता रही है तो दो एजेंसियां बीजेपी को बहुमत से अधिक सीटों का मिलना बताया जा रहा है। वहीं एग्जिट पोल एवं तमाम तरह की बातों को कुछ चुनावी विश्लेषक जानकार यह भी कह रहे हैं कि मध्य प्रदेश में इस बार चुनाव कांटे के मुकाबले का रहा है और दिलचस्प बात है कि एग्जिट पोल के आंकड़े कुछ और ही तस्वीर बयां कर रहे हैं। मध्य प्रदेश की मालवा एवं निर्माण तथा चंबल की सीटों पर भी जानकारी के अपने-अपने गणित है जिसमें चंबल में कांग्रेस को मजबूत बताया जा रहा है वही मालवा एवं निमाड़ में कांग्रेस को मुकाबले में बताया जा रहा है। इन सबसे अलग है महाकौशल क्षेत्र में तस्वीर अलग ही बताई जा रही है। मालवा क्षेत्र में उज्जैन व इंदौर संभाग में कांग्रेस को अपने प्रतिद्वंद्वी के सामने फाइटर के रूप में बताया जा रहा है। आखिरकार कल रविवार को यह तस्वीर साफ हो जाएगी कि किस पार्टी का पलड़ा भारी रहेगा।

  • रिपोर्ट : आसिफ खान( मध्य प्रदेश)

Related Posts

Follow Us