सिरोही । जयपुर नगर निगम महापौर व पार्षदों के निलंबन मामले को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल के नाम अतिरिक्त जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।
भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित ने बताया कि नगर निगम जयपुर ग्रेटर में भारतीय जनता पार्टी की महापौर व बोर्ड बनने के बाद से ही राज्य की कांग्रेस सरकार में नगर निगम जयपुर ग्रेटर की महापौर बोर्ड के कार्य में बाधा पहुंचाना प्रारंभ कर दिया बोर्ड के चेयरमैनो के निर्वाचन के मामले में भी राज्य सरकार ने अर्चन की तब राजस्थान उच्च न्यायालय के आदेश के बाद ही विभिन्न समितियों के चेयरमैन अपना पद ग्रहण कर पाए राज्य की कांग्रेस सरकार द्वारा बोर्ड को कानून की गलत व्याख्या कर अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है वर्तमान में जयपुर नगर निगम क्रेटर के क्षेत्र में सफाई व्यवस्था जिस कंपनी को दी गई थी उस बीवीजी कंपनी द्वारा सफाई कार्य ठीक से संपादित नहीं किया जा रहा था तथा हड़ताल कर दी गई थी जिससे शहर में सफाई व्यवस्था चरमरा गई जनता की शिकायत को देखते हुए महापौर सौम्या गुर्जर ने सफाई व्यवस्था हेतु वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए एक बैठक रखी जिसमें नगर निगम आयुक्त यज्ञ मित्र सिंह व अन्य अधिकारियों को बुलाया लेकिन यज्ञ मित्र सिंह आयुक्त ने महापौर द्वारा बुलाई गई बैठक को बीच में छोड़कर जाने लगे इस पर महापौर व अन्य पार्षद गणों द्वारा आपत्ति की। इस पर एक कैब मित्र सिंह आवेश में आ गए और महापौर को धमकी दी कि पहले कंपनी का भुगतान करना पड़ेगा महापौर का कथन था कि कंपनी के बिलों की जांच करवा कर ही भुगतान किया जाएगा। और आयुक्त यज्ञ मित्र सिंह बैठक को छोड़कर चले गए।
भाजपा जिलामीडिया प्रभारी चिराग़ रावल ने बताया कि राज्यपाल के नाम ज्ञापन देकर महापौर सोमिया गुर्जर व पार्षद दो का निलंबन बहाल करने की मांग की व दोषी अधिकारियों व राज्य सरकार के विरुद्ध कानून के तहत कार्यवाही की मांग की।
इस अवसर पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष तारा राम माली,नारायण देवासी,मन की बात के जिला संयोजक मांगू सिंह बावली,नगर महामंत्री जबर सिंह चौहान,पार्षद गोविंद माली,नगर मंत्री भरत माली,माणक चंद सोनी,नितिन रावल,योगेश दवे,बाबू सिंह माकरोडा,गोविंद सिंह बारठ,हितेश ओजा सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

रिपोर्ट हेमन्त अग्रवाल राजस्थान ब्यूरो चीफ