जीजा के प्यार में पागल युवती ने पति और बेटे को उतारा मौत के घाट

by vaibhav

कौशाम्बी। कहते हैं कि लोग प्यार में पागल हो जाते हैं। जिसके ऊपर प्यार का भूत सवार होता है उसको अच्छा बुरा कुछ नहीं दिखता। लेकिन आपने शायद ही कभी सुना होगा कि प्यार में पागल युवती अपने बेटे के लिए ही काल बन जाए। क्योंकि मां का रिश्ता एक बहुत ही अटूट होता है कहा जाता है कि दुनिया में सभी रास्तों से अनमोल और महत्वपूर्ण रिश्ता मां का होता है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे।

घटना है उत्तर प्रदेश के कौशांबी जनपद की कौशांबी के पिपरी थाना क्षेत्र के चायल पुलिस चौकी अंतर्गत पिता पुत्र के हत्या के मामले का पिपरी पुलिस ने खुलासा कर दिया है। महिला ने ही अपने बहन बहनोई और अन्य लोगो के साथ मिलकर अपने ही पति और बेटे की हत्याकांड की घटना को अंजाम दिया है पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

घटनाक्रम के मुताबिक पिपरी थाना क्षेत्र के चायल पुलिस चौकी अंतर्गत चायल कस्बा निवासी वकील अहमद उर्फ नौसे और उनके तीन वर्ष के बेटे अरहम को चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतारा दिया गया था इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने में जीजा के प्यार में पागल महिला अपने घर के आंगन में ही अपने पति और बेटे की हत्या के बाद दोनों की लाश को दफन कर देती इसी उद्देश्य से घर के आंगन में गड्ढा तैयार किया गया था।

इस दोहरे हत्याकांड में मृतकों की पत्नी गुलनाज और उसके जीजा सफदर अली उर्फ बबलू पुत्र सत्तार अहमद सरदार की पत्नी नूरी और सफदर के नाबालिग बेटे अनस को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है गिरफ्तार चारों आरोपियों को पुलिस ने अदालत में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है दोहरे हत्याकांड का खुलासा पुलिस अधीक्षक ने किया है।


तंत्र मंत्र साधना की बात हजम नहीं कर पा रहे ग्रामीण

दोहरे हत्याकांड में जीजा के प्यार में पागल महिला द्वारा अपने पति और बेटे की हत्या किए जाने की बात प्रकाश में आई है लेकिन हत्याकांड के खुलासे में पुलिस ने यह कहा है कि तंत्र मंत्र की सिद्धि के लिए पहले पुत्र की गला घोटकर हत्या की गई थी पति की अतरिया निकालकर पुत्र को जीवित करने का प्रयास तंत्र मंत्र साधना के जरिए किया गया जिसमें पति की भी मौत हो गई है पुत्र से बड़ी कौन से सिद्धि होगी जो पुत्र की गला घोटकर कर हत्या के बाद महिला सिद्धि प्राप्त करना चाहती थी।

नाबालिग की गिरफ्तारी को हजम नहीं कर पा रहे ग्रामीण

पिपरी थाना क्षेत्र के चायल कस्बे में वकील अहमद उर्फ नौसे और उनके बेटे के हत्याकांड के मामले में वकील के साढू के 14 वर्षीय पुत्र अनस की गिरफ्तारी को ग्रामीण हजम नहीं कर पा रहे हैं ग्रामीणों ने इस दोहरे हत्याकांड में किसी अन्य लोगो के शामिल होने की बात की थी लेकिन इस दोहरे हत्याकांड में नाबालिग की गिरफ्तारी कर थाना पुलिस कही किसी को बचाने का प्रयास तो नही कर रही है।

रिपोर्ट श्रीकांत यादव

Related Posts