रूपईडीहा(बहराइच)। भारत संचार निगम लिमिटेड के लापरवाह रवैये से उपभोक्ताओं को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। ब्रॉडबैंड व फाइबर जैसी महत्वपूर्ण सेवा ठप होने के बाद भी कर्मचारियों पर इसका कोई असर नहीं है। हालत यह है कि दिन में करीब छह से सात बार नेटवर्क गायब ही हो जाता है जबकि प्लान के मुताबिक लोगों को इंटरनेट स्पीड भी नहीं मिल पा रही है।

इंडो नेपाल बॉर्डर अति संवेदनशील होने के बाद भी रुपईडीहा की संचार सेवा राम भरोसे है। जबकि बॉर्डर सील होने के बाद भी प्रतिदिन हजारों की संख्या में मालवाहक ट्रक नेपाल को जाते है तथा कस्टम विभाग के साथ एजेंटों ने बीएसएनएल ब्रॉडबैंड का कनेक्शन ले रखा है और ऑनलाइन काम किया जाता है लेकिन नेटवर्क गायब होने के कारण कस्बे में मालवाहक गाड़ियों की लंबी लंबी कतारें लग जाती हैं ।

दूसरी तरफ रुपईडीहा में अधिकतर बैंकों में बीएसएनएल ब्रॉडबैंड के कनेक्शन है लगातार नेटवर्क गायब रहने से कार्य बाधित रहता है । नेटवर्क संबंधी बातचीत अधिकारियों से करने कॉल किया तो सभी के मोबाइल स्विच ऑफ थे ।

रिपोर्ट रईस