सशस्त्र सीमा बल द्वारा किया गया नागरिक कल्याण कार्यक्रम

by shubham

रूपईडीहा (बहराइच): सशस्त्र सीमा बल 42वी वाहिनी मुख्यालय अगय्या की सीमा चौकी, रूपईडीहा, मुंशी पुरवा, शिवपुरा ,बख्शी व कोदिया में नागरिक कल्याण कार्यक्रम वर्ष-2020 के तहत सीमा क्षेत्र के लोगों को साफ सफाई के प्रति जागरूक किया व 51 बड़े साइज के बांटे डस्टबीन।


42वाहिनी मुख्यालय अग्ईया में कमांडेंट प्रवीण कुमार व उप कमांडेंट विजेंद्र कुमार ने वाहिनी में आए हुए। ग्रामीणों व स्थानीय स्कूल के प्रबंधकों को डस्टबीन वितरित किए व साफ सफाई के प्रति महत्व को बताया कि साफ रहेंगे तभी स्वस्थ रहेंगे घर में गंदगी जहां तहां न फैलने दें, कूड़ा कूड़ेदान में डालें कोविड को देखते हुए बिना मास्क के न घूमे।

सीमा चौकी गोदिया में उप-कमांडेंट प्रवीण कुमार व सहायक कमांडेंट सुकुमार देब बर्मा ,चौकी इंचार्ज निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार मिश्रा द्वारा ग्रामीणों को डस्टबीन बांटे इस मौके पर उप कमांडेंट प्रवीण कुमार ने लोगों को साफ सफाई के प्रति जागरूक किया।


इसी तरह सीमा चौकी शिवपुरा में निरीक्षक अरुण कुमार,मुंशी पुरवा में निरीक्षक अजय कुमार व बक्शी चौकी में निरीक्षक रंजीत कुमार व मुख्य सीमा चौकी रुपईडीहा में सहायक कमांडेंट लाल जी गरबा व निरीक्षक रमेश कुमार ग्वाल द्वारा डस्टबीन बांटे गए।

महिलाओं को किया गया प्रोत्साहित

इसके अलावा चौकी कोदिया में ग्रामीण शिक्षित महिलाओं को फोर्स में भर्ती होने के लिए प्रोत्साहन प्रशिक्षण (भर्ती प्रक्रिया) कार्यक्रम चलाया गया जिसमें सीमा क्षेत्र की 17 शिक्षित महिलाओं पल्लवी सिंह, कुमारी मीरा,रूपा देवी,नीतू देवी ,ममता ,रीना ,रूबी आदि ने भाग लिया। इस मौके पर उप-कमांडेंट प्रवीण कुमार ने मौजूद ग्रामीण शिक्षित महिलाओं को प्रोत्साहित किया तथा वाहिनी से नियुक्त इंस्ट्रक्टर टीम के सदस्य उप-निरीक्षक/महिला संगीता स.उ.नि.मदन सिंह सा/आरक्षी संदीप कुमार, आरक्षी/महिला प्रिया कुमारी, शिल्पा व सीमा ने महिलाओं को फौज में भर्ती होने के लिए जरूरी गुर सिखाए। लम्बाई, ऊंचाई, लिखित परीक्षा आदि से संबंधित शुरू से आख़िर तक सभी प्रक्रियाओं से अवगत कराया। तथा में वृक्षारोपण का भी कार्यक्रम हुआ।

कमांडेंट प्रवीण कुमार ने बताया एसएसबी नागरिक कल्याण कार्यक्रम हर वर्ष कराती है इसके अलावा सामाजिक चेतना अभियान मानव व पशु चिकित्सा शिविर आदि कार्यक्रम का आयोजन भी एसएसबी की ओर से होता रहता है जिससे कि सीमा क्षेत्र के लोगों को लाभ पहुंच सके।
कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी ग्रामीणों व महिलाओं में काफी उत्साह देखने को मिला कार्यक्रम के दौरान सामाजिक दूरी का विशेष ध्यान रखा गया।

रिपोर्ट: रईस अहमद

Related Posts