हर हाल में सामुदायिक शौचालय 15 तक बने

by shubham

हमीरपुर: स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत सामुदायिक शौचालयों के निर्माण/ प्रगति के बारे में जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कहा किजनपद की कतिपय ग्राम पंचायत में सामुदायिक शौचालयों के निर्माण हेतु स्थल चयन न होने/ भूमि उपलब्धता नही हो पाने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जतायी ।


उन्होंने तहसीलदारों को निर्देश दिए कि सामुदायिक शौचालयों के निर्माण हेतु निर्विवाद भूमि प्राथमिकता के साथ उपलब्ध कराई जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लेटलतीफी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि सामुदायिक शौचालयों का निर्माण बहुत महत्वपूर्ण कार्यक्रम है । इसकी भारत सरकार द्वारा सीधे मॉनिटरिंग की जा रही है। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि सामुदायिक शौचालयों के निर्माण हेतु भूमि की उपलब्धता में किसी भी प्रकार के विवाद की स्थिति उत्पन्न नहीं होनी चाहिए। किसी भी प्रकार के विवाद को बीडीओ व तहसीलदार द्वारा संयुक्त रूप से सुलझाया जाए ।

जमीन की उपलब्धता ना होने पर ही उसके विनिमय का प्रस्ताव दिया जाए। सामुदायिक शौचालयों हेतु जिन स्थानों पर अभी निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है ।उनमें 15 अकटूबर से पूर्व सभी प्रस्तावित स्थानों पर शौचालयों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि गोवंश संरक्षण ,चारागाह विकास, पंचायत भवन निर्माण/ जीर्णोद्धार व सामुदायिक शौचालय के कार्यों को 15 अक्टूबर तक पूर्ण न किए जाने पर संबंधित खंड विकास अधिकारियों का वेतन रोक दिया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि तहसील व ब्लाक स्तर पर नियुक्त अधिकारियों द्वारा अपने संबंधित तहसील / ब्लाक मुख्यालय में ही निवासरत रहकर अपने दायित्वों को संपादित किया जाए ।

शनिवार व रविवार को उपजिलाधिकारियो द्वारा अपनी संबंधित तहसील व विकासखंड का निरीक्षण कर वहां नियुक्त अधिकारियों/ कर्मचारियों के उपस्थिति संबंधी सूचना दी जाए।
मुख्य विकास अधिकारी कमलेश कुमार , अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव, डीपीआरओ राजेंद्र प्रकाश , खंड विकास अधिकारी व तहसीलदार मौजूद रहे ।

Related Posts