सम्पूर्णानगर से रानीनगर लिंक मार्ग की पटरियों पर लगातार हो रहा अतिक्रमण

by vaibhav

लखीमपुर- खीरी। सम्पूर्णानगर – रानीनगर लिंक मार्ग की दोनों तरफ बनी पटरियों पर सिंगाही खुर्द निवासियों द्वारा अतिक्रमण कर मकान बनाया जा रहा है पिछले कुछ माह में कई लोगों ने लिंक मार्ग की पूरी पटरी कब्जा कर अवैध रूप से मकान व दुकान बना ली है परन्तु प्रशासन व जनप्रतिनिधि इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहे हैं यह लिंक मार्ग पाँच गाँवों को सम्पूर्णानगर से जोड़ने के साथ ही एस एस बी दो बटालियनों के लिये भी महत्वपूर्ण है

आप सभी को अवगत कराते चलें कि कस्बा सम्पूर्णानगर से रानी नगर के लिए जा रहे लिंक मार्ग की दोनों तरफ बनी पटरियों पर सिंगाही खुर्द के दर्जनों लोगों द्वारा अवैध रूप से मकान व दुकान बनाकर पटरी को पूरी तरह अपने कब्जे में ले लिया है , पटरी पूरी तरह कब्जा होने के चलते बड़े वाहनों को निकलने में कठिनाइयां होती हैं।अभी हालही में कुछ लोगों ने पूरी पटरी कब्जा कर बिल्कुल पक्की सड़क तक मकान बना लिया है जब पटरियां नहीं रहेंगी तो आमने- सामने से चार पहिया वाहनों को एक दूसरे को साइड कैसे ?देंगे पटरी पर अतिक्रमण होने के चलते कभी बड़ा हादसा भी हो सकता है । सिंगाही खुद निवासियों द्वारा लगातार लिंक मार्ग की पटरियों पर अतिक्रमण जारी है परन्तु न तो प्रशासन व कोई जनप्रतिनिधि इस ओर ध्यान दे रहा है और ना ही इस मार्ग के जरिए सम्पूर्णानगर तथा अन्य स्थानों को जाने वाले लोग ही ध्यान दे रहे हैं जबकि इस लिंक मार्ग से रानीनगर, मिर्चिया, हँसनगर, मान नगर , मिलन बाजार ,दलनगर के लोग दिन रात निकलते ही नहीं अपनी कृषि भूमि की फसलों को अपनी ट्रैक्टर- ट्रालियों में भरकर ले जाते हैं इस मार्ग से एस एस बी के वाहन भी यहाँ से दिन रात गुजरते हैं। यह मार्ग राष्ट्रीय दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण है आपात स्थिति में अतिक्रमण सेना के उपयोग में बाधक बनेगा। हाल के कुछ वर्षों में सुतिया पर अवैध रूप से कब्जा कर बनाए गए मकानों में लगभग एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने दोनों तरफ से पूरी पटरी कब्जा कर कच्चा या पक्का मकान बना लिया है ।रामभरोसे के पुराने घर से लेकर सुतिया पार बने रामभरोसे के वर्तमान चक्की घर तक पूरी पटरी पर अतिक्रमण ज्यादा है । कुछ लोगों ने पटरी कब्जा करने के साथ ही सड़क से लगते हुए बड़े-बड़े पत्थर रखे हुए हैं जिनसे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। प्रशासन व जनप्रतिनिधियों को इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता है।

रिपोर्ट -गोविंद कुमार

Related Posts