पाकिस्तान में कोरोना मामलों में 50 फीसदी की वृद्धि

इस्लामाबाद– जनवरी माह अंत में कोरोना प्रतिबंधों में नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर (एनसीओसी) की ओर से ढील दिये जाने के कारण पाकिस्तान में पिछले पखवाड़े कोरोना वायरस मामलों में 50 फीसदी से अधिक की वृद्धि दर्ज की गयी है।

रविवार को जारी रिपोर्टाें में इस आशय की जानकारी दी। शनिवार को एक दिन में काेरोना के 1714 नये मामले और एक दिन में सर्वाधिक 38 लोगों की मौत दर्ज की गयी जबकि सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 17,352 पहुंच गयी।

गत 24 फरवरी को, एनसीओसी ने व्यावसायिक गतिविधियों, स्कूलों, कार्यालयों और अन्य कार्यस्थलों पर अधिकांश कोरोनो वायरस संबंधी प्रतिबंधों की छूट की घोषणा की, ताकि वे पूरी ताकत के साथ काम कर सकें। निर्देशों के तहत, व्यावसायिक गतिविधियों मसलन कार्यस्थलों पर 50 फीसदी की शर्तें तथा इस पर समय सीमा हटा दी गई थी।

ये भी पढ़ें- ईरान का आरोप, अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण नहीं मिल पा रही कोरोना वैक्सीन

स्कूलों को सप्ताह में पांच दिन काम करने के लिए कहा गया, जबकि 15 मार्च से इनडोर शादी समारोह और सिनेमाघरों और धर्मस्थलों को खोलने की अनुमति दी गई है।

एनसीओसी ने पाकिस्तान सुपर लीग मैचों में 20 प्रतिशत से 50 प्रतिशत तक भाग लेने वाले दर्शकों की संख्या में वृद्धि की अनुमति दी है और सख्त मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के साथ प्ले-ऑफ के दौरान पूर्ण उपस्थिति की अनुमति दी है। हालांकि, कुछ खिलाड़ियों को कोविड-19 द्वारा संक्रमित पाए जाने के बाद टूर्नामेंट को चार मार्च को स्थगित कर दिया गया था।

पाकिस्तान के चुनाव आयोग (ईएसपी) को मई के अंत या जून की शुरुआत तक स्थानीय निकाय और छावनी बोर्ड चुनाव कराने के लिए भी कहा गया है।

ये भी पढ़ें- अमेरिका को परमाणु समझौते पर लौटना होगा: ईरान

एनसीओसी के आंकड़ों के अनुसार, 27 फरवरी को 1,176 मामले और 1 मार्च को 1,163 मामले दर्ज किए गए थे, लेकिन दो मार्च को अचानक यह संख्या बढ़कर 1,388 और चार मार्च को 1,519 हो गई।

शनिवार को जारी किए गए आंकड़ों से पता चला है कि 1,714 मामले, जो दो हफ्तों से भी कम समय में लगभग 50 प्रतिशत बढ़े हैं, और एक ही दिन में 38 हताहतों की संख्या दर्ज की गई।

इन्पुट- यूनीवार्ता