आजमगढ़। लोगों के घरों में प्रकाश फैलाने वाले विद्युत विभाग पर जबरन किसान के खेत में विद्युत पोल गाड़ने का आरोप लगा है। पूरा मामला जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के खनिकाह बहरामपुर का है। पीड़ित किसान अतुल त्रिपाठी ने मीडियाकर्मियों से बातचीत में विद्युत कर्मियों के मनमानी की पूरी कहानी बयां की उन्होंने बताया कि पहले 33000 हाईटेंशन लाइट उनके खेत के सामने उत्तर पटरी से जा रही थी जबकि पिछले कई वर्षों 11,000 हाईटेंशन लाइट उनके खेत के बीच से जा रही है ।

इसी दौरान विगत 30 अक्टूबर के दिन जीयनपुर विद्युत उप केंद्र पर तैनात जेई अनुराग सिंह के नेतृत्व में विद्युत कर्मचारियों ने बिजली के पोल को ऊंचा करने के नाम पर 33000 वोल्टेज का एक पोल मेरे खेत के पास गाड़ दिया जो कि पहले मेरे खेत के सामने वाले पटरी पर था। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार किसानों के उत्थान की बात करती है जबकि उनके सरकारी कर्मचारी किसानों की परेशानियों को नहीं समझ रहे हैं। पीड़ित किसान अतुल त्रिपाठी का कहना है कि दोनों तरफ विद्युत लाइटें दौड़ रहे हैं जिसकी वजह से हमें खेती किसानी में काफी समस्या उत्पन्न होगी।

उन्होंने उच्चाधिकारियों से मांग किया कि अगर हमारी समस्याओं को गंभीरता से सुनकर निवारण नहीं किया जाता तो हम अपने पूरे परिवार के साथ मुख्यालय स्थित हाइडल कॉलोनी में आमरण अनशन पर बैठने को बाध्य होंगे जिसकी पूरी जिम्मेदारी विद्युत कर्मियों की होगी।