कहते हैं कि जब मोहब्बत में इंसान पागल होता है तो उसे कुछ सही और गलत नहीं दिखाई देता। आपने बहुत सही पिक्चरों में प्यार का इंतकाम देखा होगा। लेकिन आज एक ऐसी घटना सामने आई जिसने सबको हिला दिया। मामला म्यांमार और बांग्लादेश की सीमाओं से लगे देश के सुदूर पूर्वोत्तरीय हिस्से मिजोरम के लुंगलेई शहर का है। जहां बीते मंगलवार की दोपहर एक धमाके ने सभी के दिलों को हिला कर रख दिया। किसी उग्रवादी हमले की आशंका से प्रशासनिक अमला और सुरक्षाबल अलर्ट मोड में आ गए। लेकिन जब घटना से पर्दा उठा तो पता चला कि यह धमाका दिलजले पति ने किया है। जिसने अपनी पत्नी को आत्मघाती हमले में उड़ा लिया।

मिजोरम के दक्षिणी हिस्से में स्थित लुंगलेई जिले के पुलिस अधिकारी रेक्स वनछावन्ग ने मीडिया से वार्तालाप के दौरान जानकारी दी है कि बम विस्फोट में मरने वाले दोनों लोग बुजुर्ग हैं। आरोपी की पहचान 62 साल के रोहमिन्गलियाना के तौर पर हुई है। वहीं महिला की शिनाख्त 61 वर्षीय तलांग थियांगलिमि के तौर पर हुई है।


भरे बाजार दिलजले पति ने दिलरुबा को उड़ाया

आरोपी शख्स, महिला का दूसरा पति था। लेकिन एक साल से दोनों अलग रह रहे थे और कुछ महीने पहले तलाक भी हुआ था। ब्लास्ट की यह घटना जिले में चन्मारी लेंग स्थित HPC (हाई पॉवर कमिटी) ऑफिस के सामने हुई। यह मार्केट का एरिया है, जहां बुजुर्ग महिला तलांगथियांगलिमि सब्जी की दुकान लगाती थी। उसकी बेटी भी पास में ही एक अलग स्टाल लगाती थी।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार आरोपी रोहमिंगलियाना अचानक से दुकान पर आया और सामने बैठकर एक लोकल सिगरेट रोल कर देने को कहा। महिला ने आपत्ति जताई। इसके बाद आरोपी ने सिगरेट जलाई। वह तबीयत खराब होने और चक्कर आने की बात कहने लगा। कोई कुछ समझ पाता, उससे पहले ही आरोपी शख्स महिला से लिपट गया और ट्रिगर दबा दिया। अचानक से हुए घटनाक्रम और फिर ब्लास्ट की तेज आवाज से लोग सकते में आ गए। महिला की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। आरोपी को घायल अवस्था में सिविल हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उसने भी दम तोड़ दिया।

SP वनछावन्ग ने स्पष्ट किया कि इस विस्फोट में जिलेटिन का प्रयोग किया गया। पुलिस ने IPC की धारा 302 और CrPC की धारा 174 के तहत केस दर्ज कर लिया है।